चंद्रग्रहण: आज साल का दूसरा चंद्र ग्रहण, जानें राशियों पर कैसा रहेगा इसका प्रभाव….

रायपुर 5 जून 2020 वर्ष 2020 के जून माह की शुरुआत में ही, साल का दूसरा चंद्र ग्रहण 5 जून को घटित होगा. कोरोना काल की इस आपदा में, इस चंद्र ग्रहण को खगोल विज्ञान के साथ-साथ ज्योतिष विज्ञान के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है. तो चलिए आज हम आपको अपने इस लेख में, साल 2020 के दूसरे चंद्र ग्रहण से जुड़ी हर जानकारी के साथ-साथ बताते हैं कि, आपकी राशि पर आखिर क्या रहेगा इस ग्रहण का प्रभाव. तो चलिए अब बताते हैं आपको सभी 12 राशियों के लिए, इस चंद्रग्रहण का प्रभाव:-

मेष राशि
ये चंद्र ग्रहण आपके अष्टम भाव में होगा, जिसके चलते आपको अपने स्वास्थ्य जीवन के प्रति सबसे अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता होगी. ऐसे में सही खान-पान लेते हुए, खुद को तनाव से दूर रखने का प्रयास करें. साथ ही मां के साथ आपके रिश्तों के लिए भी, समय थोड़ा प्रतिकूल रहेगा.

 

वृषभ राशि

इस ग्रहण के दौरान, आपको अपने जीवनसाथी के साथ अपने संबंध बेहतर करने के लिए, अधिक प्रयास करने की आवश्यकता होगी. क्योंकि ये चंद्र ग्रहण आपके सप्तम भाव को प्रभावित करेगा. इसके साथ ही आपको कार्यस्थल पर, हर ग़लतफहमी से बचने के लिए, अपने सहकर्मियों के साथ स्पष्ट रूप से संवाद और सही दस्तावेज़ कार्यवाही करके चलने की सलाह दी जाती है.

मिथुन राशि
ये ग्रहण आपके षष्ठम भाव में लगेगा. ऐसे में आपको हर तरह के विवाद या झगड़े से, खुद को दूर करके चलने की आवश्यकता होगी. इसके अलावा, शुरुआत से ही अपने ख़र्चों पर अंकुश लगाएं, अन्यथा आपको कर्ज या उधारी के पैसों पर निर्भर होना पड़ सकता है.

कर्क राशि
इस दौरान आपके मन में नकारात्मक विचारों की वृद्धि होगी, जिसके परिणामस्वरूप आप तनाव और थकान महसूस करेंगे. क्योंकि ये ग्रहण आपके पंचम भाव को प्रभावित करेगा. ऐसे में योग और व्यायाम का सहारा लें और खुद को हर प्रकार के नकारात्मक विचारों से दूर रखें. समय मिलने पर रचनात्मक कार्य करें और परिवार के बच्चों के साथ भी समय बिताएं.

सिंह राशि
चतुर्थ भाव और चंद्रमा बचपन को दर्शाता है. ऐसे में इस ग्रहण के दौरान, आशंका है कि पूर्व की कुछ समस्याएं आपको पुनः परेशान करें. इसलिए समय रहते उनकी पहचान कर, उन्हें ठीक करने के लिए ये समय शुभ है. इसके अलावा अपने परिवार के सदस्यों के साथ, यदि कोई विवाद चल रहा था तो, उसे हल करने के लिए भी समय उत्तम रहने वाला है. हालांकि आपको अपनी मां की सेहत के प्रति सजक रहने की सलाह दी जाती है.

कन्या राशि
इस ग्रहण के दौरान, आपका आर्थिक जीवन सबसे अधिक प्रभावित होगा. साथ ही कार्यस्थल पर किसी भी कार्य को लेकर कोई भी वादा सोच-समझकर करें, क्योंकि आशंका है कि आपको कार्य को पूरा करने में समस्या आएं, जिसके कारण आप उन्हें समय पर पूरा करने में असफल हो सकते हैं. भाई-बहनों के साथ बिताना आपके लिए, ये अवधि अच्छी रहेगी.

तुला राशि
कार्यस्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ, कुछ समस्याएं और ग़लतफहमी होने की आशंका है. ऐसे में आपको अधिक चतुराई और सही रणनीति के अनुसार, कार्य करने की सलाह दी जाती है. पिता की खराब सेहत, पारिवारिक वातावरण को खराब करेगी. हालांकि व्यापारियों को अच्छा लाभ मिलने के योग बनेंगे.

वृश्चिक राशि
ये ग्रहण आपकी ही राशि यानी, आपके प्रथम भाव को प्रभावित करेगा, जिसके चलते आपको अपनी छवि को लेकर सावधानी बरतने की आवश्यकता होगी. सेहत को लेकर भी सजक रहें, क्योंकि वाहन चलाने वाले जातकों के साथ, कोई दुर्घटना होने की आशंका है.

धनु राशि
इस ग्रहण के दौरान आपकी पद-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी, और आप अपने वैवाहिक जीवन का आनंद लेते दिखाई देंगे. हालांकि, इस दौरान जीवन में कुछ मुश्किलें भी आएंगी, लेकिन आप उन्हें आसानी से दूर करने में सफल होंगे. आपको जल्दबाज़ी के निवेश से दूर रहने, और अपने स्वास्थ्य पर उचित ध्यान देने की भी सलाह दी जाती है.

मकर राशि
आर्थिक जीवन के लिए समय शुभ रहेगा, और आप इस समय खुद को काम की अधिकता के चलते थोड़ा अधिक व्यस्त महसूस करेंगे. ऐसे में आपको, अपने जीवनसाथी या प्रेमी को समय देने की ज़रूरत होगी.

कुम्भ राशि
कुंभ राशि के जातकों को, इस ग्रहण के दौरान कार्यक्षेत्र पर कुछ परेशानियों से दो-चार होना पड़ सकता है. क्योंकि इस समय आपके शत्रु सक्रिय होंगे और वरिष्ठ अधिकारी भी आपसे कुछ असंतुष्ट दिखाई देंगे. इस दौरान आपकी रोग प्रतिरोध क्षमता भी कमज़ोर रह सकती है, इसलिए अपने स्वास्थ्य प्रति सावधान रहते हुए, अपनी खाने की आदतों में सुधार करें.

मीन राशि
इस समय आपकी कार्य क्षमता में वृद्धि होगी, जिसके कारण आप अपने पूर्व के सभी अधूरे पड़े कार्यों को भी पूरा कर सकेंगे. किसी बड़े या गुरु तुल्य व्यक्ति से सलाह लेना आपके लिए उत्तम रहेगा, क्योंकि इस दौरान आपकी आध्यात्मिकता में रुचि बढ़ेगी. साथ ही अच्छे व्यावसायिक अवसर प्राप्त होंगे, लेकिन संतान पक्ष के साथ संबंधों में दूरियां आने की आशंका है.

Spread the love