“भगवान श्रीराम भारतीय नहीं नेपाली थे”….असली अयोध्या भी नेपाल में …. प्रधानमंत्री ओली का अजीबो-गरीब बयान

नयी दिल्ली 14 जुलाई 2020। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने एक बार फिर अजीबो गरीब बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि असल अयोध्या नेपाल में पड़ता है। न कि भारत में। उन्होंने इसके अलावा प्रभु राम को लेकर भी बड़ा दावा किया है। बोले हैं- भगवान श्री राम भारतीय नहीं बल्कि नेपाली थे। नेपाल की ओर से इस तरह का अनोखा दावा पहली बार नहीं किया गया है।

ओली ने विवादित बयान देते हुए कहा, ‘अयोध्‍या (Ayodhya) नेपाल में है और भारत ने एक नक़ली अयोध्या को दुनिया के सामने रखकर सांस्कृतिक अतिक्रमण किया है. ओली यही नहीं रुके, उन्‍होंने कहा कि भगवान राम (Lord Ram) नेपाली हैं, ना कि भारत के. नेपाल के प्रधानमंत्री ने अपने निवास पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि भारत ने ‘नकली अयोध्या’ को दुनिया के सामने रखकर नेपाल की सांस्कृतिक तथ्यों का अतिक्रमण किया है. उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या, भारत के उत्तर प्रदेश में नहीं बल्कि नेपाल के बाल्मिकी आश्रम के पास है.

इससे पहले, नेपाल ने भारत के क्षेत्र में आने वाले तीन हिस्सों (Lipulekh-Kalapani आदि) को अपने देश का हिस्सा बताया था। नेपाल ने इसके साथ ही अपना राजनीतिक नक्शा भी संशोधित कर लिया है, जिसमें भारत के ये तीन हिस्से वह शामिल कर चुका है। हालांकि, भारत की ओर से नेपाल के इस कदम का कड़ा विरोध किया गया है और इस बाबत एक राजनयिक नोट भी जारी किया जा चुका है।

 

 

Spread the love