इनकम टैक्स छूट के लिए बजट पर निगाहें…. 1 फरवरी को पेश होगा बजट…. केंद्रीय बजट को लेकर इस बार मध्यमवर्ग ही नहीं….उच्च तबके की भी रहेगी निगाहें

नई दिल्ली 4 जनवरी 2020। अगले साल आपको इनकम टैक्स में कुछ रियायत मिलेगी या नहीं? महंगाई कम होगी या नहीं? अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने के लिए सरकार कौन सा क़दम उठाएगी? ये सभी सवाल ऐसे हैं जिनके जवाब का देश की जनता इंतज़ार कर रही है. इन सवालों का जवाब आपको आने वाले 1 फरवरी को मिल सकता है. उस दिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 2020-21 के लिए मोदी सरकार का आम बजट पेश करेंगी. 1 फरवरी का दिन शनिवार है लेकिन सूत्रों के मुताबिक़ उसी दिन आम बजट पेश किया जाएगा.

कमजोर चाल से चल रही अर्थव्यवस्था में उपभोग में आती गिरावट, राजस्व संग्रह में सुस्ती के कारण बजट में तय राजस्व लक्ष्यों को हासिल करना वित्त मंत्री के समक्ष बड़ी चुनौती खड़ी कर रहा है। आम नौकरीपेशा और सामान्य करदाता इन सब बातों को दरकिनार करते हुए मोदी सरकार की दूसरी पारी में कर दरों में राहत की उम्मीद लगाए बैठा है। विशेषज्ञों का मानना है कि वित्त मंत्री को आयकर स्लैब में बदलाव करना चाहिए। पिछले कई सालों से इनमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।

सरकार ने हालांकि, आम नौकरीपेशा लोगों की पांच लाख रुपये तक की कर योग्य आय को पहले ही करमुक्त कर दिया है। लेकिन कर स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया। मौजूदा स्लैब के मुताबिक ढाई लाख रुपये तक की आय पर कोई कर नहीं है जबकि 2.50 लाख से पांच लाख पर पांच प्रतिशत, पांच से 10 लाख रुपये की वार्षिक आय पर 20 प्रतिशत कर है।

Spread the love