लॉकडाउन फिर से : कोरोना के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने भेजा केंद्र को प्रस्ताव…. अभी से ही शादी-व्याह के आयोजनों को लेकर लगायी गयी ये पाबंदियां… कोरोना ने बजायी फिर खतरे की घंटी

नई दिल्‍ली 17 नवंबर 2020। सर्दियों में फिर से कोरोना का सितम लौट आया है। दिल्ली में कोरोना के बढ़े मरीजों की संख्या के बाद अब राज्य सरकार ने फिर से लॉकडाउन की तैयारी शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन को लेकर केंद्र को एक प्रस्ताव भेजा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्‍ली में कोरोना से निपटने के लिए फिर से सख्‍ती बरत सकती है। मुख्‍यमंत्री ने मंगलवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में इसके संकेत दिए। दिल्‍ली सरकार ने एक प्रस्‍ताव केंद्र सरकार को भेजा है जिसमें छोटे स्‍तर पर लॉकडाउन की इजाजत मांगी गई है। अगर केंद्र इजाजत देता है तो ज्‍यादा संक्रमण वाले इलाकों में लॉकडाउन लगाया जा सकता है। केजरीवाल ने कहा क‍ि कुछ बाजारों में दिवाली के समय काफी लापरवाही देखने को मिली। लोग न मास्‍क पहन रहे थे, न सोशल डिस्‍टेंसिंग का ध्‍यान रख रहे थे।

शादी में शामिल होंगे सिर्फ 50 मेहमान

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बताया कि कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कुछ अहम फैसले लिए गए हैं। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों जब दिल्ली में कोरोना की स्थिति में सुधार हुआ था तो दिल्ली सरकार ने केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार शादी समारोह में मेहमानों की संख्या 50 से 200 कर दी थी। उस आदेश को वापस ले लिया गया है और अब शादी में मेहमानों की संख्या वापस से 50 की जा रही है। इसका प्रस्ताव एलजी को भेजा गया है।

बाजारों में लॉकडाउन के लिए भेजा प्रस्ताव

वह आगे बोले कि हमने दिवाली के समय में देखा कि कुछ बाजारों में बहुत ज्यादा भीड़ रही जिसके चलते कोरोना संक्रमण तेजी से फैला। ऐसे में हमने एक प्रस्ताव केंद्र को भेजा है कि हमें जरूरत पड़ने पर बाजारों में लॉकडाउन करने की अनुमति दें। हालांकि उन्होंने ये भी उम्मीद जताई कि अब त्योहार खत्म हो गए हैं तो शायद इसकी जरूरत न पड़े लेकिन अगर किसी और प्रयास से संक्रमण प्रसार में सुधार न हो तो दिल्ली सरकार को लॉकडाउन की अनुमति दी जाए।

Spread the love