वकील ने की आत्महत्या : किसान आंदोलन स्थल पर वकील ने जहर खाकर दी जान…. सुसाइड नोट में लिखी है ये बातें…

नयी दिल्ली 27 दिसंबर 2020। किसान आंदोलन में शामिल पंजाब के अधिवक्ता अमरजीत सिंह ने आत्महत्या कर ली है। अमरजीत पंजाब में फाजिल्का जिले की जलालाबाद बार एसोसिएशन अधिवक्ता थे और टिकरी बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन  के बीबी गुलाब कौर स्टेज के पास उन्होंने जान दे दी। पुलिस का कहना है कि टिकरी बॉर्डर से कुछ किलोमीटर दूर अमरजीत ने कथित तौर पर जहर खा लिया। उन्हें रोहतक के एक अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

कथित सुसाइड नोट में अमरजीत सिंह (Advocate Amarjit singh) ने लिखा है कि वह किसान आंदोलन के समर्थन में और कृषि कानूनों के खिलाफ अपनी जान दे रहे हैं, ताकि सरकार जनता की आवाज सुनने को मजबूर हो जाए. पुलिस का कहना है कि वह 18 दिसंबर को लिखे गए सुसाइड नोट की सच्चाई की जांच कर रही है. हरियाणा के झज्जर जिले के एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमने मृतक के रिश्तेदारों को सूचना दी है और उनके आने पर बयान रिकॉर्ड किया जाएगा और कार्यवाही आगे बढ़ेगी.

पुलिस को कथित तौर पर अमरजीत का पत्र मिला है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  के नाम संबोधित है. इसमें कहा गया है कि आम जनता ने पूर्ण बहुमत, शक्ति के साथ आप पर पूरा भरोसा जताया. आम जनता को प्रधानमंत्री के तौर पर आपसे अच्छे भविष्य की उम्मीद थी. लेकिन बड़े ही दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि आप कुछ विशेष उद्योगपतियों के के प्रधानमंत्री बनकर रह गए हैं.

Spread the love