आखिरी बिदाईः कर्नल आशुतोष और मेजर सूद की पत्नी ने इस तरह दी शहीद पति को बिदाई, सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

जयपुर, 5 मई 2020। जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में कल शहीद हुए कर्नल आशुतोष शर्मा और मेजर अनुज सूद का आज पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इससे पहले जयपुर मिलिट्री स्टेशन पर श्रंद्धाजलि दी गई।
कर्नल आशुतोष की पत्नी ने पति के अंतिम बिदाई के मौके पर सैल्यूट किया तो मेजर सूद की पत्नी ने कहा कि पति के शहादत पर गर्व है…वे हमारे साथ हमेशा बने रहेंगे।
कर्नल आशुतोष शर्मा को मंगलवार सुबह जयपुर मिलिस्ट्री स्टेशन में अंतिम विदाई दी गई। इससे पहले सोमवार को आशुतोष का पार्थिव शरीर जयपुर हवाईअड्डे पहुंचा था। जहां उनकी पत्नी पल्लवी, बेटी तमन्ना और बड़े भाई पीयूष पहुंचे थे। कर्नल शर्मा की पत्नी पल्लवी और उनके भाई ने चिता को मुखाग्नि दी। पुरानी चुंगी श्मशान घाट में इस अवसर पर शहीद के परिजनों के साथ साथ सैन्य अधिकारी मौजूद थे। शहीद की पत्नी पल्लवी ने हौसला बनाए रखा और पूरे समय वहां मौजूद रहकर सभी रस्म क्रियाओं में भाग लिया।

शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और भाजपा सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर भी पहुंचे। सोमवार को जब शहीद कर्नल आशुतोष का पार्थिव शरीर जयपुर पहुंचा तो हर किसी की आंखें भर आईं और गला रुंध गया। सेना के अधिकारियों ने कर्नल की वर्दी और सामान उनकी पत्नी पल्लवी को सौंपा। उनके भाई पीयूष ने बताया कि आशुतोष का पहला प्यार वर्दी थी।

वहीं वीरगति को प्राप्त हुए शहीद मेजर अनुज सूद पंचतत्व में विलीन हो गए। शहीद के अंतिम संस्कार के लिए चिन्हित स्थल पर केवल उनके पारिवारिक सदस्यों और रिश्तेदारों को ही आने की अनुमति प्रदान की गई। उन सभी को भी एक-दूसरे से उचित फासले पर बिठाया गया। श्मशान घाट में शहीद मेजर अनुज सूद के पिता सीके सूद, मां और पत्नी मौजूद रहे। शहीद को उनके मां-पिता ने नमन किया। वहीं पत्नी ने कहा कि उन्हें अनुज की शहादत पर गर्व है और वे हमेशा मेरे साथ रहेंगे। पिता ने कहा कि अनुज ने मेरा सिर फख्र से ऊंचा कर दिया, बेटा तुझे सलाम।

 

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.