नई दिल्ली के किडनी रोग विशेषज्ञों ने सुपेबेड़ा में किया पीड़ितों का इलाज, किडनी रोगों से बचाव के उपाय भी बताए

रायपुर. 14 जनवरी 2020 । नई दिल्ली के ख्यातिलब्ध किडनी रोग विशेषज्ञों डॉ. विजय खेर और डॉ. विवेकानंद झा ने आज सुपेबेड़ा पहुंचकर पीड़ितों की जांच एवं इलाज किया। उन्होंने स्थानीय लोगों को किडनी रोगों से बचाव के उपाय भी बताएं। स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव की पहल पर दोनों विशेषज्ञ आज विभागीय सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह एवं संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ के साथ सुपेबेड़ा पहुंचे थे। रायपुर एम्स के निदेशक डॉ. नितिन नागरकर भी इनके साथ थे। दोनों विशेषज्ञों ने कई पीड़ितों से मुलाकात कर बीमारी के संबंध में चर्चा की। उन्होंने समस्या के निदान के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की। दोनों विशेषज्ञों ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार सुपेबेड़ा की समस्या को लेकर काफी गंभीर है। शासन और विशेषज्ञों की पहल के यहां सकारात्मक परिणाम जरूर दिखेंगे।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा सुपेबेड़ा में लगातार स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन कर किडनी रोग से पीड़ितों की जांच एवं उपचार किया जा रहा है। डी.के.एस. सुपरस्पेशियालिटी अस्पताल और एम्स रायपुर में भी उनके इलाज की व्यवस्था की गई है। वहां की समस्या को लेकर प्रदेश और देश के विशेषज्ञों से लगातार रायशुमारी की जा रही है। भूमि और जल का भी परीक्षण किया जा रहा है। एम्स के विशेषज्ञ डॉ. विनय राठौर और रामकृष्ण केयर अस्पताल के विशेषज्ञ डॉ. प्रभाष चौधरी द्वारा 13 और 14 जनवरी को विशेष शिविर में लोगों की जांच एवं इलाज किया गया।

बीमारी के कारणों का पता लगाने, मरीजों की पहचान, परीक्षण और उपचार के लिए सुपेबेड़ा में स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले के साथ रायपुर एम्स, डी.के.एस. सुपरस्पेशियालिटी अस्पताल एवं निजी अस्पतालों द्वारा नियमित स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। स्वास्थ्य शिविर में गरियाबंद के कलेक्टर श्याम धावडे, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी विनय कुमार लंगेह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नेतराम नवरतन और नोडल अधिकारी डॉ. कमलेश जैन मौजूद रहे।

Spread the love