कपिल का खुलासा, कहा- 1983 का वर्ल्ड कप जीतने से भारत को हुआ था ये फायदा

नईदिल्ली 26 जून 2020.25 जून 2020 को भारत ने साल 1983 में पहला वर्ल्ड कप जीतने की 37वीं वर्षगांठ मनाई तो ऐसा लगा, जैसे ये अभी की बात है कि भारत ने कुछ दिन पहले ही वर्ल्ड कप जीता है, लेकिन इस बात को करीब चार दशक हो गए। यही कारण है कि जब भारतीय क्रिकेट के किसी ऐतिहासिक लम्हे की बात आती है तो उसमें 1983 की विश्व कप जीत को याद किया जाता है। इसी जीत को याद करते हुए उस टीम के कप्तान कपिल देव ने गुरुवार को कहा कि उस जीत ने देश में बड़ा अंतर पैदा किया था, क्योंकि अभिभावकों ने अपने बच्चों को खेलों के मूल्य के बारे में बताना शुरू कर दिया था।

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव ने कहा, “मैं कह सकता हूं कि हमें अपनी टीम पर गर्व था, हमने टूर्नामेंट जीतकर खुद को गौरवान्वित किया। विश्व कप जीत एक अद्भुत चीज है। इस वजह से पूरे देश ने जश्न मनाया। मुझे लगता है कि कोई भी बड़ी उपलब्धि अगली पीढ़ी को प्रभावित करती है। 1983 की जीत ने बहुत बड़ा बदलाव किया। हमारे देश में माता-पिता ने भी खेलों के मूल्य को बढ़ाना शुरू कर दिया था, इसलिए यह बड़ी बात थी।”

साल 2011 के वर्ल्ड कप के प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रहे बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह ने रवि शास्त्री के साथ गौरवपूर्ण क्षण को याद किया। पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह और टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री के बीच गुरुवार को ट्विटर पर हर्षोल्लास वाली बातचीत देखने को मिली। युवराज ने 1983 विश्व कप जीतने वाली टीम को बधाई दी। भारत ने 37 साल पहले वेस्टइंडीज को हराकर खिताब जीता था।

युवराज ने अपने ट्विटर पर लिखा, “राष्ट्रीय गौरव का क्षण। हमारे सीनियरों ने इस दिन 1983 विश्व कप जीता था। 1983 की टीम के प्रत्येक सदस्य को बधाई। आपने 2011 में इसे दोहराने के लिए बैंचमार्क सेट किया था। भारत को सभी खेलों में विश्व चैंपियन बनने की उम्मीद है।”

Get real time updates directly on you device, subscribe now.