ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेटे का बयान आया सामने,बोले: ‘पिता पर गर्व, परिवार सत्ता का भूखा नहीं’

भोपाल 11 मार्च 2020 मध्य प्रदेश की सियासत में इन दिनों भूचाल आ गया है. कांग्रेस के बड़े चेहरे रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने के फैसले से हर कोई हैरान है. कांग्रेस के कई दिग्गज भले ही उनके इस निर्णय की आलोचना कर रहे हो, लेकिन अपने पिता के समर्थन में बेटे महाआर्यमन सिंधिया ने ट्विटर पर पोस्ट किया और लिखा कि उन्हें अपने पिता पर गर्व है कि उन्होंने ये फैसला लिया. एक विरासत से इस्तीफा देना आसान नहीं होता.

होली के दिन ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया, इसी के बाद बेटे ने ट्विटर पर अपना संदेश लिखा. महाआर्यमन ने लिखा, ‘अपने लिए स्टैंड लेने के लिए मुझे अपने पिता पर गर्व है. एक विरासत से इस्तीफा देना आसान नहीं होता है. इतिहास इस बात की गवाही देता है कि मेरा परिवार कभी सत्ता का भूखा नहीं रहा है. हम भविष्य में मध्य प्रदेश और भारत को नई ऊंचाईयों पर ले जाएंगे.’

इस ट्वीट से पहले भी जब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपना इस्तीफा सार्वजनिक किया था, तब भी महाआर्यमन ने लिखा था कि दुख की बात है कि बात यहां तक पहुंच गई.

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश की राजनीति में सिंधिया परिवार का बड़ा रोल रहा है. पहले राजमाता सिंधिया, फिर माधवराव सिंधिया, फिर ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे बड़े नाम राजनीति में रहे हैं. साल 2018 में ज्योतिरादित्य के बेटे महाआर्यमन सिंधिया ने भी राजनीतिक रैली में हिस्सा लिया था. जब वो शिवपुरी की एक जनसभा में शामिल हुए थे. महाआर्यमन ने अमेरिका में मैनेजमेंट की पढ़ाई की है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद 22 विधायकों ने भी पार्टी छोड़ दी थी. इसी के बाद मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर संकट है. अभी तक की जानकारी के मुताबिक, बुधवार को ही ज्योतिरादित्य सिंधिया भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम सकते हैं.

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.