बाबरी विध्वंस पर फैसला सुनाते ही रिटायर हो जायेंगे जस्टिस सुरेंद्र कुमार…..इसी केस की वजह से मिला था रिटायरमेंट से एक्सटेंशन… जानिये उनके बारे में

लखनऊ 30 सितंबर 2020। बाबरी विध्वंश पर फैसला सुनाने वाले जस्टिस सुरेंद्र कुमार यादव फैसला सुनाने के बाद रिटायर हो जायेंगे।  सुरेंद्र कुमार यादव सीबीआई की विशेष अदालत के जज हैं, जो बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में 32 आरोपियों की सजा पर फैसला सुनाने जा रही है. इस मामले में पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी, मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, साध्वी ऋतंभरा, फायर ब्रांड नेता विनय कटियार जैसे दिग्गज नेता आरोपी हैं.

इन दिग्गजों को बाबरी बाबरी विध्वंस मामले में क्या सजा मिलेगी या फिर ये सभी आरोपों से बरी होंगे? इसपर सीबीआई के स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव फैसला सुनाएंगे. 30 सितंबर ही उनके कार्यकाल का अंतिम दिन भी है. फैसला सुनाने के साथ ही शाम 5 बजे सीबीआई कोर्ट के स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव रिटायर हो जाएंगे.

सीबीआई की अदालत के स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव को 1 साल का कार्यकाल विस्तार मिला था. बाबरी विध्वंस केस की सुनवाई को देखते हुए ही सुरेंद्र कुमार यादव को यह सेवा विस्तार दिया गया था. सुरेंद्र कुमार यादव फैजाबाद से बेहद करीब से जुड़े रहे. उनकी पहली तैनाती फैजाबाद जिले में ही हुई थी, जिसका नाम अब अयोध्या हो चुका है.

 

सुरेंद्र कुमार यादव को एडीजे के तौर पर पहला प्रमोशन भी फैजाबाद में ही मिला था. सुरेंद्र कुमार यादव को 5 साल पहले बाबरी विध्वंस केस में स्पेशल जज नियुक्त किया गया था.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.