जेएसपीएल ने दिसंबर-2020 में रिकॉर्ड स्टील उत्पादन किया….पिछले वर्ष के मुकाबले जेएसपीएल की स्टील बिक्री 12 फीसदी बढ़कर लगभग 18.8 लाख टन हुई

रायपुर, 4 जनवरी 2021. जाने-माने उद्योगपति नवीन जिन्दल के नेतृत्व वाली कंपनी जिन्दल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) ने दिसंबर-2020 में रिकॉर्ड 7.27 लाख टन स्टील का मासिक उत्पादन किया है। कंपनी के अंगुल, रायगढ़ और पतरातू प्लांट के उत्पादन में रिकॉर्ड वृद्धि के फलस्वरूप वित्त वर्ष – 2021 की तीसरी तिमाही में पिछले वर्ष के मुकाबले जेएसपीएल का स्टील उत्पादन 20 फीसदी बढ़कर लगभग 19.3 लाख टन हो गया जबकि उपरोक्त अवधि में ही बिक्री 12 फीसदी बढ़कर लगभग 18.8 लाख टन हो गई।

यहां जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक जेएसपीएल के ओडिशा स्थित अंगुल के एकीकृत स्टील प्लाट ने 4.16 लाख टन स्टील का उत्पादन किया है। इसी तरह छत्तीसगढ़ के रायगढ़ स्थित स्टील प्लांट ने 3.11 लाख टन स्टील का उत्पादन किया। स्टील बिक्री में भी कंपनी ने शानदार सफलता हासिल की है और दिसंबर-2020 में 7.11 लाख टन स्टील की बिक्री कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है।

जेएसपीएल ने वित्त वर्ष-2021 की तीसरी तिमाही में लगभग 19.3 लाख टन स्टील का उत्पादन किया जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 16.1 लाख टन था। इसी तरह वित्त वर्ष-2021 की तीसरी तिमाही में लगभग 18.8 लाख टन स्टील की बिक्री दर्ज की गई जो पिछले वर्ष इसी अवधि में 16.7 लाख टन दर्ज की गई थी। विदेशी कारोबार मोर्चे पर भी जेएसपीएल ने पिछले वर्ष की तीसरी तिमाही के मुकाबले 18 फीसदी की वृद्धि दर्ज करते हुए 3.87 लाख टन स्टील का निर्यात किया है, जो कुल बिक्री का 21 फीसदी है।

आंकड़ा (लाख टन में) दिसंबर-2020 नवंबर -2020 दिसंबर -2019 2021 की तीसरी तिमाही 2020 की तीसरी तिमाही
उत्पादन 7.27 6.14 5.59 19.26 16.10
बिक्री 7.11 5.65 5.67 18.76 16.71

जेएसपीएल के प्रबंध निदेशक वी.आर. शर्मा ने कंपनी की परफॉर्मेंस पर खुशी जताते हुए कहा, “मैं इस उपलब्धि का श्रेय जेएसपीएल की समर्पित टीम को देता हूं, जिसने उपलब्ध क्षमताओं का सर्वोत्तम उपयोग कर सभी उत्पादन मानकों का पालन करते हुए बिना कोई अतिरिक्त लागत के यह कीर्तिमान बनाया है। हमें विश्वास है कि आने वाले समय में कंपनी और अधिक उंचाइयां हासिल करेगी।”

जेएसपीएल के बारे में

जिन्दल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) देश की अग्रणी स्टील उत्पादक कंपनियों में से एक है जो बुनियादी ढांचा क्षेत्र की मजबूती के लिए पूरे समर्पित भाव से काम कर रही है। विश्व स्तर पर लगभग 90 हजार करोड़ रुपये के निवेश के साथ जेएसपीएल अपनी क्षमता के पूर्ण इस्तेमाल पर ध्यान दे रही है ताकि आत्मनिर्भर भारत का सपना साकार हो सके।

Spread the love