कोरोना से पत्रकार की मौत: वरिष्ठ पत्रकार को 4 मई पाया गया था कोरोना पाजिटिव… आईसीयू में वेंटिलेटर पर 48 घंटे रहने के बाद तोड़ा दम

लखनऊ 8 मई 2020। आगरा में कोरोना से संक्रमित हुए वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ  का निधन हो गया है। उनका निधन पत्रकारिता जगत के लिए एक अपूर्णनीय क्षति है। पंकज कुलश्रेष्ठ समाचार पत्र दैनिक जागरण, आगरा में सेवाएं दे रहें थे। कोरोना वायरस पॉजिटिव होने के बाद उन्हें आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने आखिरी सांस ली। बताया जाता है कि कोरोना की चपेट में आए पंकज की हालत ज्यादा खराब होने पर बुधवार को उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।

पंकज कुलश्रेष्ठ के निधन पर तमाम पत्रकारों, राजनीतिक संगठनों और गणमान्य लोगों ने शोक जताते हुए उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी है। करीब 52 साल के पंकज कुलश्रेष्ठ दैनिक जागरण, मथुरा के जिला प्रभारी रह चुके थे और इन दिनों दैनिक जागरण, आगरा में डिप्टी न्यूज एडिटर के पद पर कार्यरत थे।

पंकज कुलश्रेष्ठ आगरा के अशोक नगर में परिवार के साथ रहते थे। तीन भाई-बहनों में दूसरे नंबर के पंकज कई दिनों से बुखार से पीड़ित थे। 4 मई को उन्हें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी, तब उन्हें एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। इसके बाद उनकी हालत लगातार बिगड़ती चली गई और गुरुवार शाम करीब सात बजे उन्होंने अस्पताल में ही अंतिम सांस ली। उनके परिवार में पत्नी गरिमा कुलश्रेष्ठ व 13 वर्षीय बेटा अक्षांत उर्फ वंश है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पत्रकार पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कुलश्रेष्ठ की पत्नी को खत भेजकर अपनी शोक संवेदनाएं प्रकट की है। प्रियंका ने लिखा- पंकज जी के निधन के समाचार से मुझे बहुत कष्ट हुआ है। मुझे एहसास है कि, आपको और आपके परिवार को इस पीड़ा को सहन करना कितना कठिन होगा। मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि इस दुख की घड़ी में आपको और सभी परिजनों को कष्ट सहने का साहस दे।कोरोना की चपेट में आए आगरा के वरिष्ठ पत्रकार श्री पंकज कुलश्रेष्ठ जी की मृत्यु की खबर सुनकर बहुत दुख पहुंचा। भावपूर्ण श्रद्धांजलि।”

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आगरा में कोरोना से संक्रमित हुए वरिष्ठ पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है ।उन्होंने कहा उनके निधन की दुःखद सूचना से उनका मन बहुत आहत हुआ है ।उनका निधन पत्रकारिता जगत के लिए एक अपूर्णनीय क्षति है। उन्होंने कहा कि करोना से जंग लड़ते- लड़ते , जिंदगी की जंग से हार गए कलम के सिपाही 50 वर्षीय पंकज कुलश्रेष्ठ बहुत ही मृदुभाषी,व सरल स्वभाव के व्यक्ति थे। उन्होंने पत्रकारिता जगत में जो छाप छोड़ी वह लोगों लिए के एक मिसाल है । वह भारतीय संस्कृति व समाज के विकास के क्षेत्र में अपनी कलम के माध्यम से लगातार संघर्ष करते रहे । केशव प्रसाद मौर्य ने ईश्वर से प्रार्थना की है कि ईश्वर उनकी दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें और शोक संतप्त परिजनों को इस दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!