पत्रकार और हिंदू नेता को जिंदा जलाकर मार डाला…. हाईकोर्ट में याचिका दायर कर SIT जांच की मांग … ये था पूरा मामला पढ़िये, इनपर है आरोप

बलरामपुर(यूपी) 30 नवंबर 2020। बलरामपुर में देहात थाना क्षेत्र में हिन्दू नेता पिंटू साहू और उनके पत्रकार साथी राकेश सिंह की हत्या कर दी गई है। पिंटू का शव पूरी तरह से जली हुई हालत में बिस्तर पर मिला। जबकि गम्भीर रूप से झुलसे राकेश ने लखनऊ स्थित केजीएमयू में दम तोड़ा। कमरे की दीवार का कुछ हिस्सा ढहा मिला है। राकेश के पिता मुन्ना सिंह ने बम फेंक कर हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हालांकि एसपी का कहना है कि मौके पर बारूद जैसी कोई चीज नहीं मिली है।

मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है और एक एसआईटी गठित कर इस मामले की जांच की मांग की गई है. इलाहाबाद हाई कोर्ट के वकील गौरव द्विवेदी ने ये याचिका दाखिल की है.

बता दें कि 28 नवंबर को स्थानीय पत्रकार राकेश सिंह और उनके एक साथी पिंटू साह की अपने घर में संदिग्ध परिस्थितियों में जलकर मौत हो गई थी. ये घटना कोतवाली देहात क्षेत्र के ग्राम कलवारी की है. इस मामले में कोतवाली देहात थाने में मामला दर्ज हुआ है.

देहात क्षेत्र के कलवारी निवासी राकेश सिंह निर्भीक  (35) पुत्र मुन्ना सिंह अपने दोस्त कोतवाली नगर के विशुनीपुर निवासी पिंटू साहू (34) पुत्र बिंदे के साथ बेडरूम में सोए थे। शुक्रवार देर रात करीब 11 बजे लोगों ने उनके मकान में आग की लपटें देखीं। पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पिंटू साहू का पूरा शरीर राख हो चुका था। राकेश आग की लपटों से पूरी तरह घिरे थे। धमाके से कमरे की दीवार ढह चुकी थी। राकेश किसी तरह बाहर निकल आए। उनका शरीर 90 प्रतिशत जल चुका था। दमकल ने किसी तरह आग बुझाई। राकेश को इलाज के लिए लखनऊ केजीएमयू रेफर कर दिया गया। शनिवार सुबह उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई। डीआईजी, डीएम व एसपी ने घटना स्थल का जायजा लिया। मौके पर फॉरेंसिक टीम ने जांच की है। राकेश के पिता मुन्ना सिंह का कहना है कि शुक्रवार रात पीछे के रास्ते घर में घुसकर कुछ लोगों ने कमरे में बम फेंका था। जिससे राकेश व उनके दोस्त पिंटू की झुलसकर मौत हुई है। एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि मामले की सघनता से जांच कराई जा रही है। मौके पर पुलिस बल तैनात है।

Spread the love