मरवाही के चुनावी घमासान के बीच जोगी की आत्मकथा प्रकाशित.. रेणु जोगी आत्मकथा की प्रति देने सोनिया गांधी के कार्यालय जाएँगी ..?

रायपुर,12 अक्टूबर 2020। प्रदेश के मरवाही में उप चुनाव को लेकर घमासान तेज है, भावनाओं का ज्वार भाटा कहीं भी कम ना पड़े इसके लिए जोगी के पुत्र अमित जोगी कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। ठीक ऐसे वक्त अपनी विलक्षण शैली से चमत्कृत राजनीति करने वाले अजीत जोगी की आत्मकथा का प्रकाशन पूरा हो गया है। स्व. अजीत जोगी की पत्नी डॉ रेणु जोगी इस किताब को लेने दिल्ली पहुँच चुकी हैं।
चुनाव की घोषणा के क़रीब डेढ़ महीने पहले से मरवाही की डगर डगर नापते हुए रेणु जोगी मरवाही में भावनाओं के जिस लहर को आसमान तक पहुँचा गई थी, अमित जोगी केवल उसे टिकाए रखने की क़वायद में हैं। खबरें हैं कि कोटा विधायक डॉ रेणु जोगी जल्द मरवाही लौटेंगी, और जोगी परिवार की बहू ऋचा जोगी भी मरवाही के मतदाताओं से चिर परिचित सौम्य अभिवादन के साथ अपने पति के लिए वोट मांगते नज़र आ सकती हैं।
बहरहाल डॉक्टर रेणु जोगी के दिल्ली पहुँचने की खबर ने सियासती विश्लेषकों को सतर्क कर दिया है। इस खबर ने जो कि अभी बस चर्चाओं में है और व्हाट्सएप पर तैर रही है, उस खबर के अनुसार  रेणु जोगी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिल सकती हैं।
स्व. अजीत जोगी के राजनीति में चरम पर जाने के पीछे  सोनिया गांधी से उन्हें मिलता आशिर्वाद एकमेव कारक था, स्व. अजीत जोगी ने इसे कभी भी छुपाया भी नहीं बल्कि वे हर मुमकिन मौक़े पर इसे स्वीकारते रहे थे।स्व. अजीत जोगी की आत्मकथा में ज़ाहिर है सोनिया गांधी को लेकर बेहद भावनात्मक उद्गार और संस्मरण मौजूद हैं।
डॉ रेणु जोगी ने NPG से कहा

“जोगी जी की आत्मकथा प्रकाशित हो चुकी है, मैं उसे लेने आई हूँ.. कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गाँधी जी का स्व. अजीत जोगी और पूरे परिवार पर सदैव स्नेह संरक्षण और मार्गदर्शन मिलता रहा है। जोगी जी की आत्मकथा की एक पुस्तक सोनिया गांधी जी को भेंट करने का प्रयास रहेगा, अतिशय व्यस्त होती हैं वे..”

Get real time updates directly on you device, subscribe now.