जोगी परिवार की रणनीति तय..मरवाही उप चुनाव में रहेगी पूरी दखल.. हर गाँव हर घर पहुँचेगा जोगी परिवार

मरवाही,18 अक्टूबर 2020। नामांकन के निरस्त होने के बाद जोगी परिवार चुनावी मैदान से बतौर प्रत्याशी सीधे तौर पर भले बाहर हो गया हो, लेकिन मरवाही और हो रहे उप चुनाव से बाहर नहीं हो रहा है। दोपहर को स्व. अजीत जोगी के करीबी मित्रों समर्थकों और पारिवारिक सदस्यों की उपस्थिति में जोगी परिवार ने आखिरकार वह अहम फ़ैसला ले लिया है, जिसकी संभावना क़रीब क़रीब तय थी।
जोगी परिवार जिसमें स्व. अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी और अमित जोगी शामिल हैं हर ग्राम पंचायत हर साप्ताहिक बाज़ार पहुँचेगा, और स्व. अजीत जोगी की मरवाही से जूड़ी यादों को बताते हुए नामांकन ख़ारिज की प्रक्रिया को अन्याय बताते हुए इसके लिए इंसाफ माँगेगा।
चुनाव की तारीख़ें घोषित होने के क़रीब डेढ़ महिने पहले घूम चुकी थीं, तब वोट नही माँगे गए थे, बल्कि रेणु जोगी केवल यह महसूस कराने गई थी कि, यह शोक केवल उनका नहीं है, बल्कि मरवाही का है। कोई अतिश्योक्ति नहीं है कि श्रीमती रेणु जोगी ने भावनाओं का जो ज्वार भाटा उठाया था अमित जोगी के पास केवल इतनी ही जवाबेदही थी कि, इस ज्वार भाटे को कम ना पड़ने दें।
आज पूरे दिन गहन मंत्रणा के बाद पूत्र अमित जोगी को लेकर माँ रेणु जोगी नर्मदा दर्शन को गईं और उसके बाद संत कल्याण दास बाबा से मुलाक़ात कर मार्गदर्शन और आशिर्वाद लिया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.