IPS प्रमोशन : जिस पुलिस अफसर पर जेपी नड्डा के सुरक्षा में चूक का है आरोप…. राज्य सरकार ने उसे दे दिया प्रमोशन…. अब सरकार पर उठ रहे हैं गंभीर सवाल

नई दिल्ली 29 जनवरी 2020। ..जिस IPS अफसर पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की सुरक्षा में चूक के गंभीर आरोप है, उसे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नये साल का गिफ्ट दिया है। ममता सरकार ने पुलिस अफसर को प्रमोशन दिया है। अब पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा पुलिस अधिकारियों के ट्रांसफर और पदोन्नति को लेकर सवाल खड़े हो गये हैं। बीजेपी का आरोप है कि ममता बनर्जी ने उन अधिकारियों को भी पदोन्नति दी है, जिन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की सुरक्षा में चूक की थी। बीजेपी का कहना है कि ऐसे अधिकारियों को पदोन्नति देकर ममता बनर्जी यह संदेश देना चाहती हैं कि जो भी इस तरह से बीजेपी के खिलाफ हमले करेगा या उसमें सहयोग करेगा उसको राज्य में पदोन्नति मिलेगी.

राजीव मिश्रा के ऊपर थी जेपी नड्डा की सुरक्षा की जिम्मेदारी

पश्चिम बंगाल सरकार ने वैसे तो कई अधिकारियों के तबादले और पदोन्नति की है, लेकिन चर्चा में एडीजी साउथ बंगाल राजीव मिश्रा को मिली पदोन्नति है. क्योंकि राजीव मिश्रा वो अधिकारी हैं, जिनके ऊपर जेपी नड्डा की सुरक्षा के जिम्मेदारी भी थी. उसी दौरान जेपी नड्डा के काफिले पर हमला हुआ था. राजीव मिश्रा वो अधिकारी हैं, जिनको केंद्र सरकार ने जेपी नड्डा की सुरक्षा में हुई चूक के मामले में डेपुटेशन पर दिल्ली बुलाया था, लेकिन ममता सरकार ने रिलीव करने से इनकार कर दिया था.

शाहनवाज हुसैन का कहना है ममता बनर्जी का ये कदम उनकी हताशा और निराशा भी दिखा रहा है. क्योंकि उनको भी पता है कि उनका जनाधार कम हो रहा है और आने वाले दिनों में वो सत्ता से बेदखल हो जाएंगी. रही बात जिन तीन अधिकारियों को केंद्र सरकार ने जेपी नड्डा के काफिले पर हुए हमले में चूक के मामले में डेपुटेशन पर वापस दिल्ली बुलाया था, उनको ना भेजने का ममता सरकार का फैसला संवैधानिक तौर पर भी गलत है, क्योंकि इससे वह संविधान की मूल भावना का अपमान कर रही हैं.

Spread the love