मालिक की हत्या कर स्कॉर्पियो लूटने वाला अंतर्प्रांतीय गिरोह पकड़ाया.. अंधे क़त्ल का ख़ुलासा कर अपराधियों को पकड़ने में सफल प्रतापपुर पुलिस

रायपुर,27 सितंबर 2020। राज्य की प्रतापपुर पुलिस ने शानदार विवेचना कर मिसाल क़ायम कर दी है। 31 अगस्त को मिले अज्ञात शव की विवेचना करते हुए पुलिस टीम ने बाईक स्कॉर्पियो चोरी करने वाले अंतर्प्रांतीय गिरोह को पकड़ लिया। यही चोर गिरोह उस अज्ञात की हत्या के लिए जवाबदेह था।
बीते 31 अगस्त को नागरिक ने सूचना दी थी कि, खोरमा गाँव के पास एक व्यक्ति का शव पड़ा हुआ है। पुलिस ने पीएम रिपोर्ट के आधार पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया लेकिन मृतक की पहचान ना होने से पुलिस उलझी रही। तब पुलिस ने सोशल मीडिया के ज़रिए मृतक की तस्वीरें प्रसारित की जिसके बाद 2 सितंबर को पुलिस को मृतक की पहचान चितेरन साहू के रुप में हुई। यह मृतक स्कॉर्पियो का मालिक और चालक दोनों था, और 30 अगस्त को मृतक दो व्यक्तियों को रायपुर पंडरी से अंबिकापुर लेकर गया था।जिसके बाद इसका शव मिला था और स्कॉर्पियो समेत वे दो व्यक्ति लापता थे।

 

इसके बाद प्रतापपुर प्रभारी विकेश तिवारी फिर टीम के साथ रायपुर पहुँचे और अपनी जाँच पंडरी बस स्टैंड और लॉज तथा सीसीटीवी पर केंद्रित कर दी।लगातार तफ्तीश के दौरान सिटी प्लस होटल से पुलिस को वो अहम सुराग मिल गया जिसकी तलाश थी। स्कॉर्पियो की बुकिंग ट्रेवल एजेंसी के ज़रिए हुई थी,ट्रेवल एंजेंट के बताए हुलिए और सीसीटीवी में मिली संदिग्ध तस्वीरों को लेकर तीन व्यक्ति जो फैजान अलीशाह और फुरखान के नाम से ठहरे थे, इनकी पहचान हुई। हालाँकि यह पूरी शंका थी कि, यह नाम फ़र्ज़ी है। पुलिस को आशंका थी कि इसके तार सरहद के झारखंड से जूड़े हो सकते हैं। पतासाजी में जुटी प्रतापपुर पुलिस ने सूचना पर सरहद के आख़िरी क़स्बे रामानुजगंज में दबिश देकर तीन संदिग्धों को पकड़ा। ये तीन वही थे जिनकी धूंधली तस्वीर और हुलिए के आधार पर तलाश थी।
पुलिस से पूछताछ में तीनों ने जुर्म क़बूल किया और बताया कि स्कॉर्पियो लूट के इरादे से रायपुर से बुक कराए थे, और प्रतापपुर के पास ड्रायवर की हथौड़े से हत्या कर गाड़ी लेकर झारखंड चले गए। तीनों आरोपी जिनके नाम शाहिद खान,फैजान और सरवर हैं बाईक चोरी किया करते थे।
पुलिस ने आरोपियों के पास से स्कॉर्पियो समेत कट्टा कारतूस बरामद कर उन्हें जेल दाखिल कर दिया है। प्रतापपुर पुलिस ने बारह दिनों तक जिस तरह कड़ी दर कड़ी जोड़ते हुए आरोपियों तक पहुँची और उन्हें मय सबूत गिरफ्तार किया उसने आला अधिकारियों को खुश कर दिया।
आईजी रतन डाँगी और सूरजपुर पुलिस कप्तान राजेश कुकरेजा ने प्रतापपुर थाना प्रभारी विकेश तिवारी और टीम को बधाई और शाबाशी दी है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.