VIDEO: मरवाही में अमित की राह इस बार पथरीली भी कँटीली भी.. बोले अमित – “मरवाही से रिश्ता दिल से दिल का.. सरकार के पास विकास के वायदे हैं.. और वायदों में विश्वसनीयता नहीं है.. मैं जीतूँगा यह तय है”

मरवाही,6 अक्टूबर 2020। मरवाही का जोगी मठ जो बीते बीस सालों से कुछ ऐसा मजबूत रहा कि कोई भी हवा उस मठ की घास तक हिला नहीं पाई, वहाँ इस बार जोगी मठ को लेकर राजनीति के गलियारों में चर्चा हैं मठ बचाने की राह बेहद कठिन है।
कहा जाता है कोई भी उपचुनाव दल नहीं बल्कि सरकार लड़ती है, मरवाही भी इससे अछूता नहीं है।अजीत जोगी के करिश्माई व्यक्तित्व और दूरंदेशी सियासत का प्रत्यक्ष संरक्षण इस बार उनके पुत्र अमित को नहीं है, इसके अलावा बीते दौर की “दुरभिसंधि” के बीस वर्षीय संयोग भी नहीं है।
अमित जोगी एक बार मरवाही की गली गली चौपाल चौपाल घूम रहे हैं.. और अजीत जोगी की स्मृति और रिश्ते लोगों को याद दिला रहे हैं। लेकिन फिर भी राह पथरीली और बेहद कँटीली है .. अमित जोगी से बातचीत की हमारे वरिष्ठ सहयोगी याज्ञवल्क्य ने-

Get real time updates directly on you device, subscribe now.