comscore

लाॅकडाउन में पुलिस की नाक के नीचे शराब का खुलेआम चल रहा अवैध कारोबार, कलेक्टर बोलीं, अवैध शराब के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई

कोरबा, 21 अप्रैल, 2021। कोरोना महामारी से एक ओर जहां सारा प्रदेश हलाकान है, वही कोरबा में बार संचालक आपदा के इस दौर मे अवसर तलाशने में भी नही चूक रहे है।
दरअसल पूरा मामला दर्री थाना के रितुराज बार एंड रेस्टोरेंट का है। कोरबा में 12 अप्रैल से लगे कम्पलीट लाॅक डाउन के साथ ही बार और शराब दुकानों को जिला प्रशासन ने सील करवा दिया है। लेकिन कोरबा के दर्री थाना क्षेत्र में संचालित रितुराज बार के संचालक ने बार सील होने से पहले ही काफी मात्रा मेें शराब का अवैध तरीके से बगल के रेस्टोरेंट में भंडारण कर लिया और अब लॉक डाउन का फायदा उठाकर अवैध तरीके से दुगने और तीगुने दाम में खुलेआम शराब की बिक्री की जा रही है। एक स्टिंग वीडियो में ये साफ देखा जा सकता है कि लाॅक डाउन होने के बाद भी बार के ठीक बगल में स्थित रेस्टोरेंट खुला हुआ है, और वहां के कर्मचारी लोगों के आर्डर के अनुसार शराब की बिक्री रेस्टोरेंट से खुलेआम कर रहे है। स्टिंग वीडियों में बार के कर्मचारी और संचालक बकायदा बियर के साथ व्हिस्की और दूसरी शराब  मिलने की बात कहते कैमरे में कैद हो गये है। हद तो तब हो गयी जब बार के संचालक कोरोना संक्रमण के इस दौर में बचने का उपाय बताते हुए ये तक कह दिया कि शराब पियो और कोरोना को मारो। स्टिंग वीडियो में जब बार के संचालक से पुलिस के आने के संबंध में जानकारी पूछी गयी तो उसने सिर हिलाकर पुलिस के नही आने का ईशारा कर दिया। साफ है कि पूरे जिले में तालाबंदी होने के साथ ही सड़को पर पुलिस का कड़ा पहरा है। बावजूद इसके जिस तरह से दिनदहाड़े शराब की कालाबाजारी की जा रही है, इससे कही ना कही दर्री पुलिस की कार्य प्रणाली सवालों के घेरे में है। वही इन सबके बाद बार के ठीक बाहर एक शख्स और मिला जो इस अवैध कारोबार का हिमायती निकला। स्टिंग वीडियो में बार संचालक का मित्र होने का हवाला देते हुए उसने बताया कि 25 लाख का टैक्स देकर बार का ठेका लिया गया है। ऐसे में लाॅक डाउन में यदि दुकान बंद रहती है तो बार संचालक तो मर ही जायेगा, इसलिए इस तरीके से अवैध शराब की बिक्री नही करेगें तो फिर क्या करेगें। खैर कोरोना महामारी के इस दौर में जहां लोग बीमारी से बचने की जुगत लगा रहे है, वही इस आपदा को अवसर में बदलकर कुछ बार संचालक शराब की कालाबाज़ारी कर अपनी जेब भरने में लगे हुए है, जिसकी हकीकत कोरबा के रितुराज बार की वायरल वीडियो बयां कर रही है। ऐेसे में देखने वाली बात होगी कि कोरबा में जब कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए जिला प्रशासन ने जहां पूरे जिले में कम्पलीट लाॅक डाउन लगा दिया है, वही ऐसे वक्त में लाॅक डाउन की धज्जियां उड़ाकर शराब की कालाबाजारी करने और इस अवैध कारोबार को संरक्षण देने वालों के खिलाफ पुलिस और प्रशासन क्या कार्रवाई करती है, ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा।
कलेक्टर किरण कौशल ने कहा ये सब बर्दास्त नही, होगी कड़ी कारवाई।
इस पूरे मामले पर कोरबा कलेक्टर किरण कौशल ने NPG से चर्चा में बताया कि जिला प्रशासन लॉक डाउन के पालन को लेकर गंभीर है। ऐसे में अगर लॉक डाउन में कोई शराब की कालाबाज़ारी करता है तो ये बर्दाश्त नही किया जाएगा। जानकारी मिलते ही मैने आबकारी विभाग की टीम को मौके पर कारवाई के लिए आदेश दिया है। मौके पर अगर ऐसा कुछ भी मिलता है तो सम्बंधित के खिलाफ कड़ी कानूनी करवाई की जाएगी।

Spread the love