fbpx

छत्तीसगढ़ में कक्षा 1 से 12वीं के पाठ्यक्रम में 35% कटौती की मांग…..संजय जोशी बोले-जुलाई-अगस्त ही होते हैं पढ़ाई के मुख्य माह.. उसी माह में पढ़ाई नहीं..

रायपुर 12 जुलाई 2020। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल के पूर्व सदस्य संजय जोशी ने प्रदेश में कक्षा 1 से 12वीं के पाठ्यक्रम में 35% कटौती की मांग की है.

स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव को दिए एक ज्ञापन में संजय जोशी ने कहा कि देश मे कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन एवं संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए छत्तीसगढ़ राज्य के सभी विद्यालय लगभग 4 माह से बंद हैं.

संजय जोशी ने कहा कि वर्तमान में देश-प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण से निकट भविष्य में भी शालायें लगने की संभावना काफी कम है. साथ ही राज्य की अनेक शालाओं को भी क्वारीनटीन सेंटर बनाया गया है.

उल्लेखनीय है कि पूरे शैक्षणिक सत्र में अधिकतम पढ़ाई जुलाई, अगस्त और सितंबर इन तीन महीनों में ही होती हैं. पश्चात दशहरा अवकाश, दीपावली अवकाश, शीतकालीन अवकाश, शालाओं के वार्षिकोत्सव, खेल-कूद, केम्प, विभिन्न प्रतियोगिताएं, प्रायोगिक परीक्षाएं इसी में पूरा सत्र बीत जाता है. और वर्तमान सत्र में शुरू के तीन महीने में ही पढ़ाई की संभावना नही लग रही है.

ऐसी परिस्थिति में कक्षा 1 से 12वीं के वर्तमान पाठ्यक्रम को अध्यापकों द्वारा पूर्ण कराना साथ-साथ विद्यार्थियों द्वारा भी उसे पढ़ना एवं समझना असंभव है.

संजय जोशी ने कहा कि देश के केन्द्रीय बोर्ड CBSE सहित हरियाणा, गुजरात, राजस्थान सहित अनेक स्टेट बोर्ड ने भी अपने पाठ्यक्रम में कटौती की है. CBSE बोर्ड ने तो अपने पाठ्यक्रम में 30% कटौती कर संशोधित पाठ्यक्रम प्रकाशित कर लागू भी कर दिया है.

संजय जोशी ने सरकार से मांग की है कि ऐसी कठिन परिस्थितियों में छत्तीसगढ़ के विद्यार्थियों के हित को ध्यान में रखते हुए कक्षा 1से 12वीं के पाठ्यक्रम में 35% की कटौती कर संसोधित पाठ्यक्रम शीघ्रताशीघ्र जारी किया जाय.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.