comscore

छत्तीसगढ़ में कोरोना पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा आरोप…. “कोवैक्सीन” के उपयोग से इनकार कर लोगों की जान से कर रहे हैं खिलवाड़……RTPCR के बजाय रैपिड-एंटीजन कराने पर भी उठाये सवाल….नेताओं की बयान पर कसा तंज

रायपुर 8 अप्रैल 2021। छत्तीसगढ़ ने कोरोना की स्वदेशी वैक्सीन “कोवैक्सीन” के उपयोग से इनकार कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग के इस फैसले पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने तीखा ऐतराज जताया है। कोवैक्सीन नहीं लगवाने के फैसले पर नाराजगी जताते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि इस फैसले से लोगों की जान को संकट में डाल जा रहा है, वहीं दुनिया में भी इसका एक गलत संदेश जा रहा है। आपको बता दें कि ट्रायल पूरा नहीं होने का हवाला देते हुए स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव स्वदेशी वैक्सीन “कोवैक्सीन” के छत्तीसगढ़ में इस्तेमाल से इनकार कर दिया था। हर्षवर्धन से इस मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री से पत्राचार भी हुआ था। उस दौरान भी हर्षवर्धन ने कोवैक्सीन को पूरी तरह से सुरक्षित बताया था। ट्वाट में हर्षवर्धन ने लिखा है….

वहीं छत्तीसगढ़ में कोरोना को लेकर चल रहे रैपिड एंटीजन टेस्ट को लेकर भी स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने सवाल खड़े किये हैं। हर्षवर्धन ने कहा है कि प्रदेश में अभी बी रैपिड एंटीजन टेस्ट ही कराया जा रहा है, जो सही नहीं है। आपको बता दें प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या सिर्फ 7 दिन में 4500 से 10310 पहुंच गया है। 31 मार्च को छत्तीसगढ़ में 4563 मरीज मिले थे, जबकि 7 अप्रैल को आंकड़ा 10 हजार मरीज को पार कर गया है। मौत का आंकड़ा भी पिछले दो दिनों से 50 से पार हैं। मौत के बढ़े मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने प्रदेश में चल रही कोरोना की टेस्टिंग पर सवाल खड़े किये हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि 2-3 हफ्तों से असामयिक रूप से मौत की संख्या बढ़ी है, ऐसे में राज्य सरकार की जांच केवल रेपिड-एंटीजन टेस्ट पर टिकी है जो सही एकदम नहीं है।

कोरोना को लेकर चल रही बयानबाजी को लेकर भी हर्षवर्धन ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि बयानबाजी के बजाय स्वास्थ्य की अधारभूत ढांचे को मजबूत करना चाहिये। उन्होंने आरोप लगाया है कि छ्ततीसगढ़ के कुछ नेता कोरोना वैक्सीनेशन पर गलत सूचना देकर भय फैला रहे हैं।

 

Spread the love