कोरोना वैक्सीन पर छत्तीसगढ़ में घमासान…. को-वैक्सीन के वैक्सीनेशन पर स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव का इनकार, पत्र लिखकर बोले- “स्वास्थ्य मंत्री के तौर पर ट्रायल का हिस्सा बनने नहीं कर सकता प्रदेशवासियों को मजबूर”… बृजमोहन ने दिया जवाब ….

रायपुूर 11 फरवरी 2021। कोरोना वैक्सीन पर छत्तीसगढ़ में फिर से सियासी संग्राम छिड़ गया है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने एक बार फिर से कोरोना की को-वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए केंद्र को पत्र लिखा है। टीएस सिंहदेव ने बैक टू बैक दो पत्र लिखकर स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को कहा है कि बिना तीसरे फेज की टेस्टिंग पूरा कराये को-वैक्सीन का छत्तीसगढ़ में वैक्सीनेशन करना संभव नहीं है।

इधर स्वास्थ्य मंत्री के इस कदम पर बृजमोहन अग्रवाल ने पलटवार किया है। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा है कि स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव बहुत सुलझे हुए व्यक्ति हैं, वो देशभक्त भी है। लेकिन इस तरह के कदम से वो देश के वैज्ञानिकों, वैक्सीन के आविष्कारकों का अपमान कर रहे हैं। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा है कि वैक्सीन के मामले में राजनीति नहीं करना चाहिये, इस मामले में जो भी गाइडलाइन हुई है, उसका पालन करना चाहिये।

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने दो पत्र भेजकर स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को को-वैक्सीन को लगवाने में असहमति जतायी है। उन्होंने कहा है कि ..

“मैंने आज दो पत्र केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन को भेजी है, कोवैक्सीन के संदर्भ में मैंने लिखा है, कि थर्ड फेज के ट्रायल के बाद आप को वैक्सीन को भेजिये, कोई दिक्कत नहीं है, क्योंकि अभी जो को वैक्सीन भेजी जा रही है, उसके साथ एक फार्म भी है, जिसमें ये लिखा गया है कि फर्स्ट व सेकंड ट्रायल पूरा हो चुका है, थर्ड फेज का ट्रायल चल रहा है…कोविशील्ड के साथ ऐसा नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री के रूप में कैसे प्रदेश के लोगों को बाध्य कर सकता हूं कि वो ट्रायल का हिस्सा बनें”

Spread the love