IG की मौत : कोरोना ने ली आईजी की जान, एम्स में चल रहा था इलाज….दो दिन पहले ही कराया गया था एम्स में भर्ती…

पटना 18 अक्टूबर 2020। महीनों गुजर जाने के बाद भी कोरोना का तांडव कम होता नहीं दिख रहा है। बिहार से खबर है कि कोरोना की वजह से आईजी की मौत हो गयी है। आईजी विनोद कुमार अभी पूर्णिया के आईजी थे। बताया जा रहा है कि दो दिन से उनका इलाज पटना के एम्स चल रहा था. कोरोना पॉजिटिव होने के बाद बेहतर इलाज के लिए उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद शनिवार की रात 11 बजे उनकी मौत हो गई।

विनोद कुमार पटना एम्स (AIIMS) में चल इलाज चल रहा था. इस दौरान उनकी मौत हो गई.जानकारी के अनुसार,  विनोद कुमार ने बिहार पुलिस सर्विस के तहत जॉइन किया था. वह 2011 में आईपीएस (IPS) बनाए गए.  20 अगस्त 2019 को विनोद कुमार पूर्णिया रेंज के आईजी बने थे. 16 अक्टूबर को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद वे पटना एम्स में इलाज के लिए भर्ती हुए थे।

बताया जा रहा है कि  पटना एम्स में 2 दिन से इलाज चल रहा था. एम्स के मेडिकल सुपरिटेंडेंट ने इसकी पुष्टि की है. वहीं, यह भी बताया जा रहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 15 अक्टूबर को कटिहार में आईजी विनोद कुमार कोढ़ा धाना में बैठक की थी. यह बैठक देर रात तक चली थी. इस बैठक में पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के अधिकारी मौजूद थे.

इससे पहले, बिहार सरकार के एक और मंत्री का निधन हो गया है. शुक्रवार सुबह को पंचायती राज मंत्री कपिल देव कामत का निधन हो गया. मधुबनी के बाबूबरही से विधायक कामत कोरोना से पीड़ित थे और कई दिनों तक गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती रहे.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.