स्कूल शिक्षा विभाग में टाइपिंग कंप्यूटर न जानने वाले लिपिकों की हो रही कुंडली तैयार…. संयुक्त संचालक ने मांगी जानकारी….. 15 सितंबर तक देना होगा पूरा ब्यौरा !

बिलासपुर 8 जुलाई 2020। स्कूल शिक्षा विभाग का काम धीरे धीरे पूरी तरह से ऑनलाइन होते जा रहा है और इसकी सफलता इस बात पर निर्भर करेगी की विभाग के लिपिक अपने काम में कितने दक्ष है । अब विभाग अब कर्मचारियों की कुंडली बना रहा है जो कहने के लिए तो लिपिक के पद पर हैं लेकिन जिन्हें न तो टाइपिंग आती है और न ही कंप्यूटर और जिन्होंने कभी इसे सीखने का प्रयास भी नहीं किया ।

वेतन बनाने से लेकर सारी जानकारी विभाग को भेजने तक के लिए कंप्यूटर की जानकारी होना अति अनिवार्य है लेकिन अधिकांश स्कूलों में जो लिपिक कार्यरत है वह इस काम को नहीं जानते हैं और मजबूरन अनेक जगहों पर शिक्षकों को यह काम करना पड़ता है , जिस से पढ़ाई व्यवस्था प्रभावित होती है । कार्यालयों की दशा तो फिर भी ठीक है और वहां के बाबू दक्ष है लेकिन स्कूलों की स्थिति खराब है और यह किसी से छिपी भी नहीं है ।

अब स्कूल शिक्षा विभाग के बिलासपुर संभाग के संयुक्त संचालक ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर के बीईओ ऑफिस, हाईस्कूल व हायर सेकेंडरी स्कूलों में काम करने वाले उन बाबूओ की सूची मंगाई है जिन्हें कंप्यूटर में टाइपिंग काम करना नहीं आता यह जानकारी 15 सितंबर तक कार्यालय में जमा करना है । उम्मीद है आने वाले दिनों में व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करते हुए या तो ऐसे बाबुओं को कंप्यूटर सीखने के लिए कड़े निर्देश दिए जाएंगे या फिर इन पर कार्रवाई होगी क्योंकि यदि शिक्षकों से सही ढंग से काम लेना है तो उन्हें अन्य कार्यों से हटाना होगा और उसमें एक महत्वपूर्ण काम यह भी है उन्हें पूरी तरह लिपिकीय जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए ।

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.