दिल दहला देने वाली घटना: IBM के सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने बीवी बच्चों की हत्या कर की खुदकुशी, चार की मौत… लाखों का लोन बनी वजह

हैदराबाद 3 मार्च 2020। हैदराबाद एक बुरी खबर सामने आई है। यहां एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने अपनी पत्नी और अपने दो बच्चों की जहर देकर हत्या करने के बाद खुदकुशी कर ली। जानकारी के मुताबिक, 36 साल के इंजीनियर के प्रदीप कुमार पर 22 लाख का कर्ज था जिसे नहीं चुका पाने के तनाव में उसने ऐसा खौफनाक कदम उठा लिया।

एलबी नगर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आने वाले हस्तिनापुरम क्षेत्र में एक परिवार के 4 लोगों ने कीटनाशक दवाओं का सेवन करके आत्महत्या कर ली। खुदकुशी करने वालों में मृतक दंपति की पहचान प्रदीप (33) और स्वाति (29) के रूप में हुई है।

पुलिस ने इस बारे में बताया कि हैदराबाद के हस्तिनापुर क्षेत्र स्थित घर में चार लाशें मिलीं। इस बारे में परिजनों को सोमवार को पता चला। लाशों की पहचान सॉफ्टवेयर इंजीनियर के प्रदीप कुमार, पत्नी स्वाति और दो बच्चे कल्याण कृष्णा और जया कृष्णा के तौर पर की गई है। पुलिस के मुताबिक, प्रदीप ने पहले पत्नी स्वाति और दोनों बच्चों को जहर देकर मार डाला और उसके कुछ घंटे बाद उसने भी खुदकुशी कर ली।

घर में रखी एक डायरी में पुलिस को सुसाइड नोट मिला है। प्रदीप ने सुसाइड नोट में लिखा कि वह अपनी कंपनी शुरू करना चाहता था इसलिए वह पहले अपना होम लोन चुकाना चाहता था। इसके लिए उसने लाखों का कर्ज ले रखा था। प्रदीप ने लिखा कि उसने जल्दबाजी में कई गलत फैसले लिए। जिस उम्र में पैरेंट्स को संभालने की जिम्मेदारी उसको उठानी चाहिए, उस उम्र में उसको पैरेंट्स पर निर्भर होना पड़ रहा है। उसने लिखा कि अगर उसके बीवी बच्चे जिंदा रहे तो उसके मरने के बाद वो भी पैरेंट्स पर निर्भर रहेंगे।

सोमवार को प्रदीप के रिश्तेदार सतीश कुमार ने पुलिस को सूचना दी कि दो दिन से प्रदीप और उसके परिवार से संपर्क नहीं हो पा रहा है। सतीश प्रदीप के आवास पर गए और वहां खिड़की तोड़कर अंदर देखा कि ड्रॉइंग रूम में प्रदीप की लाश पड़ी थी। इसके बाद पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो अंदर पूरे परिवार की लाश मिली। पुलिस इंस्पेक्टर अशोक रेड्डी ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से ही पता चल पाएगा कि प्रदीप ने किस जहर का इस्तेमाल किया था और क्या उसे इसने खाने में मिलाया था या कुछ और किया था?

फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है, जबकि शवों को पोस्टमार्टम के लिए उस्मानिया अस्पताल भेज दिया गया है.

Spread the love