कोरोना पर सरकार का बड़ा ऐलान: 3 महीने तक 80 करोड़ लोगों को 2 रु. किलो गेहूं और 3 रु. किलो चावल मिलेगा

नई दिल्ली 25 मार्च 2020 कोरोना वायरस के कारण देशभर में लॉकडाउन है। घबराहट में लोग सामान खरीदकर अपने घरों में भर रहे हैं ताकि आने वाले दिनों में परेशानी न हो। इसी बीच कैबिनेट में लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सरकार तीन महीने का राशन अडवांस में देगी। देश के 80 करोड़ लोगों को राशन मिलेगा। किसी जरूरी सामान की कमी नहीं होने दी जाएगी। सरकार ने स्पष्ट किया है कि लॉकडाउन की विस्तारित अवधि में देशभर में कहीं भी आवश्यक वस्तुओं की दुकानें बंद नहीं होंगी। लोग घबराकर सामानों की खरीदारी नहीं करें, नहीं तो इससे जमाखोरी और कालाबाजारी को बढ़ावा मिलेगा।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को यहां मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने स्पष्ट किया कि आवश्यक सेवाओं की सभी दुकानें हर रोज खुलेंगी, चाहे दूध हो, फल-सब्जी हो, अंडा-मांस हो या फिर अन्य जरूरी सामान। सभी वस्तुएं वैसे ही उपलब्ध होंगी, जैसे आम दिनों में उपलब्ध होती है। कुछ सामानों की कालाबाजारी से संबंधित सवाल पर उन्होंने कहा कि यदि कोई दुकानदार इस तरह का काम करता है तो उस पर कठोर कार्रवाई होगी। उन्होंने बताया सरकार 27 रुपये कीमत का गेहूं 2 रुपये में देती है और हम राज्यों को अडवांस में जरूरी सामान भेज रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को 2 रुपये किलो गेहूं, 3 रुपये किलो चावल मिलेगा।

सरकार पीडीएस सिस्टम के तहत देश भर के 5 लाख राशन दुकानों पर बेनिफिशियरी को 5 किलोग्राम सब्सिडाइज्ड अनाज प्रत्येक महीने देती है. सरकार ने इसे बढ़ाकर 7 किलोग्राम कर दिया है नेशनल फूड सिक्योरिटी एक्ट के तहत राशन दुकानों के जरिए अनाज सब्सिडाइज्ड रेट पर मिलता है. 3 रुपये प्रति किलोग्राम चावल, 2 रुपये प्रति किलोग्राम गेहूं और 1 रुपये प्रति किलोग्राम कॉर्स अनाज बेचती है.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.