comscore

1350 रुपये में सरकार बेचेगी धान : 2500 रूपये प्रति क्विंटल में जिस धान को खरीदा, अब उसी धान को 1350 रूपये में बेचेगी सरकार …. मंत्रिमंडलीय उप समिति ने नीलामी की रेट की तय

रायपुर, 21 जुलाई 2020। 2500 रुपये प्रति क्विंटल पर धान खरीदने वाली सरकार को अब 1350-1400 रूपये में धान बेचना पड़ रहा है। अतिशेष धान की नीलामी के लिए बनी कमेटी ने धान की दर निर्धारित की है। मोटा चावल 1350 और पतला चावल 1400 रुपये प्रति क्विंटल में भेजा जायेगा।

राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों से समर्थन मूल्य में खरीदे गए अतिशेष धान की नीलामी के माध्यम से विक्रय के लिए गठित मंत्रिमंडलीय उपसमिति की बैठक में अतिशेष धान की नीलामी में प्राप्त दरों पर चर्चा की गई। बैठक में अधिकतम दरों का अनुमोदन किया गया। खाद्य, नागरिक आपूर्ति व उपभोक्ता संरक्षण मंत्री अमरजीत भगत की अध्यक्षता में आज वर्चुअल माध्यम से मंत्रिमंडलीय उपसमिति की बैठक हुई।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार द्वारा अतिशेष धान के लॉट की नीलामी में प्राप्त अधिकतम दर के अनुमोदन हेतु धान खरीदी एवं कस्टम मिलिंग की नीति की समीक्षा हेतु मंत्रिमंडलीय उपसमिति का गठन किया गया था। इस उपसमिति में कृषि एवं पशुधन विकास मंत्री रविन्द्र चौबे, परिवहन मंत्री  मोहम्मद अकबर, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम और उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल शामिल हैं।

मंत्रिमंडलीय उपसमिति की वर्चुअल बैठक में 74 हज़ार 85 क्विंटल मोटे धान और 12 हजार 989 क्विंटल पतले धान हेतु नीलामी में प्राप्त दरों पर चर्चा कर उसका अनुमोदन किया गया। शेष 47 हजार 994 टन मोटे धान के लिये 1350 रूपए या उससे अधिक एवं 9445 क्विंटल पतले धान के लिये 1400 रूपए या उससे अधिक की दरों का अनुमोदन किया गया। साथ ही 11 हजार 789 क्विंटल पतले धान के लिये 1350 रूपए व उससे अधिक की दर का भी अनुमोदन मंत्रिमंडलीय उपसमिति द्वारा किया गया है।

Spread the love