धान के संकट से जूझती सरकार ने ई ऑक्शन आमंत्रित किया.. तीन मार्च को पहला टेंडर..

रायपुर,22 फ़रवरी 2021।धान के संकट से जूझती सरकार ने खुले बाज़ार का जो रुख़ किया है, वह सरकार के लिए निराशाजनक कतई साबित नहीं हुआ है। ई ऑक्शन का पहला खाता तीन मार्च को खुलेगा जबकि पंजीयन लगातार जारी है।
केंद्र से लगातार संवाद के बावजूद मसला फ़िलहाल उलझा हुआ ही है, और पंक्तियों के लिखे जाने तक 37 लाख मिट्रिक टन धान केंद्रों में मौजूद है, और यही धान सरकार की मुश्किलों का सबब है।
भूपेश सरकार ने धान ख़राब ना हो और यदि नुक़सान हो तो कम से कम नुक़सान हो इस को केंद्र में रख धान के लिए खुले बाज़ार में जाने का फ़ैसला किया और ई ऑक्शन की व्यवस्था की।
खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा

“मुख्यमंत्री भूपेश बघेल केंद्र से लगातार आग्रह कर रहे हैं, अभी वे फिर दिल्ली जाने वाले हैं, प्रदेश के किसानों के प्रति भूपेश सरकार संकल्पित है, उनके उपज का उनको वायदा किया मूल्य देते रहेंगे.. ई ऑक्शन की व्यवस्था को बेहद अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है, न्यूनतम बेस प्राईज निर्धारित है.. हम उम्मीद कर रहे हैं कि ई ऑक्शन बेहद लाभदायक साबित होगा.. इस बीच यदि केंद्र सरकार से सहमति मिल जाती है तो ई ऑक्शन को रोक देंगे”

Spread the love