देसी कोरोना वैक्‍सीन पर गुड न्‍यूज, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया, देश को कब मिलेगी पहली कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली 21 अगस्त 2020। लॉकडाउन हटने के बाद देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। शुक्रवार को देश के अलग-अलग राज्यों में कोरोना वायरस के 68898 मामले सामने आए, जिसके बाद मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 29 लाख के पार पहुंच गई। वहीं कोरोना संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटों के भीतर 983 लोगों की मौत भी हो चुकी है। कोरोना वायरस की इस महामारी के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने देश में कोरोना के खिलाफ तैयार हो रही वैक्सीन को लेकर एक बड़ी खुशखबरी दी है।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की पहली वैक्सीन इस साल यानी 2020 के आखिर तक उपलब्ध हो सकती है। मीडिया से बात करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि इसके अलावा जिन अलग-अलग वैक्सीन के ट्रायल चल रहे हैं, उनमें से कुछ साल 2021 की पहली तिमाही तक लोगों को उपलब्ध हो जाएंगी। डॉ. हर्षवर्धन ने आगे कहा कि भारत में तैयार हो रही कोरोना वायरस की वैक्सीन के ट्रायल पूरे होने के बाद इनके प्रभाव का पता चलेगा। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ऑक्सफोर्ड की जिस वैक्सीन का उत्पादन भारत के सीरम इंस्टीट्यूट ने किया है, उसे भी जल्द से जल्द मार्केट में लाने के लिए प्रक्रिया चल रही है।

हेल्‍थ मिनिस्‍टर के मुताबिक, दुनियाभर में वैक्‍सीन ट्रायल को फास्‍ट-ट्रैक किया जा रहा है। स्‍वदेशी टीकों का ट्रायल साल के आखिर तक पूरा होने की उम्‍मीद है। उन्‍होंने कहा कि तब तक हमें पता चल जाएगा कि ये टीके कितने असरदार हैं। हर्षवर्धन ने कहा कि सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया पहले से ही ऑक्‍सफर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्‍सीन का उत्‍पादन कर रहा है ताकि बाजार तक उसके पहुंचने का समय कम किया जा सके। उन्‍होंने बताया कि बाकी दोनों टीकों को बनाने और बाजार में उतारने में कम से कम एक महीने का और वक्‍त लग सकता है। उन्‍होंने साल के आखिर तक ये टीके उपलब्‍ध होने की उम्‍मीद जताई है।

तीनों वैक्‍सीन का लेटेस्‍ट अपडेट
ऑक्‍सफर्ड वैक्‍सीन : सीरम इंस्टिट्यूट ने कहा है कि उसने भारत में ह्यूमन ट्रायल शुरू कर दिया है। अस्‍त्राजेनेका की यह वैक्‍सीन साल के आखिर तक उपलब्‍ध होने की उम्‍मीद है।
कोवैक्सिन : हैदराबाद की भारत बायोटेक की इस वैक्‍सीन का ट्रायल भी दो हफ्ते पहले शुरू हुआ है। यह वैक्‍सीन भी साल के अंत तक रेडी हो सकती है।
जायकोव-डी : जायडस कैडिला ने भी इंसानों पर वैक्‍सीन का क्लिनिकल ट्रायल शुरू कर दिया है। कुछ महीनों में ट्रायल पूरा हो सकता है।

 

Spread the love