कोरोना वैक्सीन पर अच्छी खबर, 98 फीसदी लोगों पर असरदार साबित हुआ यह टीका…

नईदिल्ली 26 सितम्बर 2020. रूसी मीडिया के दावों पर विश्वास करें तो, रूसी वैक्सीन Sputnik V ‘सिविल सर्कुलेशन’ में आ गई है। यह वैक्सीन फिलहाज तीसरे चरण के ट्रायल से गुजर रही है। चूंकि वैक्सीन की सुरक्षा को लेकर विशेषज्ञ पूरी तरह संतुष्ट नहीं हैं, इसीलिए इस वैक्सीन में दुनिया की बहुत ज्यादा दिलचस्पी नहीं है। इस बीच अमेरिका से कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर सामने आई है।

खबरों के मुताबिक, अमेरिका में चल रही कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। ह्यूमन ट्रायल के दौरान कोरोना वायरस के खिलाफ अमेरिकी वैक्सीन काफी असरदार दिखी है। हेल्थ वेबसाइट medRxiv की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन(Johnson and Johnson) द्वारा विकसित की गई वैक्सीन के शुरुआती परीक्षणों में उत्साहित परिणाम सामने आए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, वैक्सीन के सिंगल डोज ने कोरोना वायरस के खिलाफ मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया(Strong immune Response) दिखाया है।

शुक्रवार को वेबसाइट पर जारी रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस के खिलाफ संभावित सुरक्षित वैक्सीन के रूप में इस वैक्सीन की एक डोज ही पर्याप्त है। इस वैक्सीन को सुरक्षित भी बताया जा रहा है। मालूम हो कि जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन अपने ट्रायल के तीसरे और अंतिम चरण में है। अंतिम चरण में पहुंचने वाली यह अमेरिकी की चौथी वैक्सीन है।

मालूम हो कि दो दिन पूर्व व्हाइट हाउस में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लोगों से वैक्सीन के ट्रायल में भाग लेने की अपील की है। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि जॉनसन एंड जॉनसन की घोषणा के मुताबिक वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के अंतिम चरण में  है। यह अमेरिका मे ऐसी चौथी वैक्सीन है, जो अंतिम चरण के ट्रायल में है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस साल के अंत तक वैक्सीन की 100 करोड़ डोज पूरे अमेरिका में वितरित किए जाने का वादा किया है। उनका कहना है कि तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले भी वितरण के लिए एक टीका उपलब्ध हो सकता है। हालांकि कई डेमोक्रेट्स नेताओं का कहना है कि चुनाव को लेकर यह उनकी रणनीति का हिस्सा हो सकता है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.