सोना हुआ महंगा: साल 2021 में 65,000 रुपये के पार पहुंच सकता है सोना, चांदी 1 लाख रुपये किलो के करीब, जानिए कारण

नईदिल्ली 1 जनवरी 2021. नया साल 2021 आ गया है. 2020 में पूरे साल कोरोना महामारी से जूझ रही दुनिया में साल 2021 को लेकर उम्मीद की नई किरणें जगी हैं. सरकारों को अर्थव्यवस्था को पटरी पर लौटने की उम्मीद हैं, तो नौकरीपेशा लोग और कारोबारियों को आमदनी बढ़ने की उम्मीद है. किसानों को बाजार और सरकार से उम्मीद है, बाजार और सरकार को खरीदारों से उम्मीद है. इन्हीं उम्मीदों के बीच देश के सर्राफा बाजार को यह उम्मीद है कि नए साल 2021 में कीमती धातुओं में से एक सोना 65,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के ऊपर पहुंच सकता है, तो चांदी 1 लाख रुपये प्रति किलोग्राम के करीब पहुंच सकती है.

बाजार विश्लेषकों के अनुसार, साल 2020 में भी सोने और चांदी ने निवेशकों को जबरदस्त रिटर्न दिया है. इस साल सोना ने निवेशकों को 27 फीसदी और चांदी ने करीब 50 फीसदी रिटर्न दिया है. अगस्त, 2020 में तो सोने की कीमत अब तक के अपने हाई लेवल 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच गया था. वहीं, चांदी भी करीब 80,000 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई थी.

वायदा कारोबार में सोना-चांदी में तेजी

अगर मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) की बात करें, तो गुरुवार की सुबह से ही वायदा कारोबार में सोना की कीमतों में तेजी का रुख बना रहा. सुबह कारोबार शुरू होने के बाद ही इसकी कीमत करीब 0.09 फीसदी की तेजी के साथ 50,195 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया. वहीं, चांदी भी करीब 0.15 फीसदी की तेजी के साथ 68,208 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई.

कोरोना में निवेशकों के लिए सुरक्षित है सोना

बाजार विशेषज्ञों के अनुसार, दुनियाभर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था में रिकवरी और रिवाइवल अभी अनिश्चितता के दौर में है. इस वजह से निवेशक सोने और चांदी जैसे सुरक्षित निवेश कर सकते हैं. अनुमान यह भी है कि 2021 में सोना 65,000 रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी 90,000 हजार रुपये प्रति किलोग्राम के भाव तक पहुंच सकती है.

निवेशकों को मिला 25 फीसदी तक रिटर्न

बाजार विशेषज्ञों के अनुसार वैश्विक अर्थव्यवस्था में राहत पेकेज मिलने पर सोना और चांदी निवेशकों को आकर्षित कर सकते हैं. इस वजह से नए साल में इन दोनों कीमती धातुओं के दाम बढ़ेंगे. भारत के साथ-साथ वैश्विक बाजार में भी सोने के दाम 2020 में काफी बढ़े हैं. सोना ने अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भी निवेशकों को 2020 में करीब 25 फीसदी रिटर्न दिया है. अमेरिका सहित कई सरकारों द्वारा राहत पैकेज की घोषणा और डॉलर की कीमत कम होने से इसे समर्थन मिला है.

Spread the love