कोरोना में जुआ, महामारी एक्ट में फंस गए जुआरी, 11 लाख रुपये के साथ 13 जुआरियों पर डबल मुकदमा….उधर ,पुलिस को देख एक जुआरी छत से कूदा

 

रायपुर 2 अप्रैल 2020। 21 दिनों लॉकडाउन में जहां सड़के, शहर, गाँव वीरान हो गए हैं, तो वहीं इस सन्नाटे का फायदा उठाकर राजधानी में अब जुआरी सक्रिय हो गए है। ऐसे ही 13 जुआरियों को राजधानी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं एक जुआरी पुलिस को देख कर एक मंजिल से कूद गया, जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने इन जुआरियों के पास से नगदी भी जब्त की है।

जानकारी के मुताबिक बीती रात शंकर नगर चौपाटी स्थित हिमांशु चक्रवर्ती अपने मकान में जुआ खिला रहा था। सिविल लाइन पुलिस को इसकी सूचना मुखबिर से मिली। सूचना मिलने के बाद पुलिस देर रात मौके पर पहुंची तो जुआ खेल रहे जुआरी भागने की कोशिश करने लगे। इनमें से एक जुआरी डीडी नगर निवासी धंजय सिंह एक मंजिला छत से कूद गया। पुलिस ने घायल जुआरी को रात में ही अस्पताल में भर्ती कराया बाकी सभी जुआरियों को गिरफ्तार कर सिविल लाइन थाने ला लिया गया है।
अमूमन ऐसे मामलों में पुलिस जिस तेरह जुआ एक्ट का इस्तेमाल करती है वह मुचलका का मसला होता है, जिससे सभी आसानी से छूट जाते हैं। लेकिन अबकि गूगली हो गई है, पुलिस में धारा 144 के उल्लंघन के साथ साथ महामारी एक्ट भी जोड़ दिया है। ज़ाहिर है अब मसला ज़मानती नहीं रहा हैं।
पकड़े गए जुआरियों में हिमांशु चक्रवर्ती, आशीष प्रशाद, राकेश डोंगरे, तरनीज सलूजा, अनिल शुक्ला, सुनील शुक्ल, राम गुप्ता, संजय कुकरेजा, मनोहर सिंधी, दिनेश मोटवानी, सिद्धार्थ कल्याणी, मो नावेद और तरुण नानवानी शामिल था। पकड़े गए आरोपियों के पास से 11 लाख के आस पास नगदी जब्त की गई है।

Spread the love