मुंबई की जीत के बाद बोले गंभीर, रोहित को टी-20 कप्तान नहीं बनाना शर्मनाक…

नईदिल्ली 11 नवंबर 2020. क्रिकेटर से राजनेता बने गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) और इंग्लैंड के माइकल वॉन ने रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को भारतीय टी-20 टीम (T-20 Team) का कप्तान बनाये जाने का समर्थन किया है. पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गंभीर ने तो यहां तक कहा कि अगर इस स्टार ब्ल्लेबाज को यह भूमिका नहीं सौंपी गई तो यह ‘शर्मनाक’ होगा. रोहित की अगुआई में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) ने मंगलवार को पांचवां इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) खिताब जीता. उन्होंने फाइनल में अर्धशतक जड़ने के अलावा अपनी चतुराई भरी कप्तानी से भी काफी प्रभावित किया.

वह फिलहाल सीमित ओवरों के प्रारूप में भारत की सीमित ओवरों की टीम के उप कप्तान हैं. गंभीर ने ईएसपीएनक्रिकइंफो के ‘टी-20 टाइम आउट’ कार्यक्रम में कहा कि अगर रोहित शर्मा भारतीय कप्तान नहीं बनते तो यह उनका नुकसान है, रोहित का नहीं. उन्होंने कहा, हां, कप्तान उतना ही अच्छा होता है जितनी अच्छी उसकी टीम होती है और मैं इससे पूरी तरह सहमत हूं लेकिन कप्तान को परखने का पैमाना क्या है कि कौन अच्छा है और कौन नहीं? पैमाना और मापदंड समान होने चाहिए. रोहित की अगुआई में उनकी टीम (मुंबई इंडियंस) ने पांच आईपीएल खिताब जीते हैं.

मुंबई इंडियंस ने मंगलवार को दुबई में दिल्ली कैपिटल्स को पांच विकेट से हराकर पांचवीं बार आईपीएल खिताब अपने नाम किया. गंभीर ने कहा, हम कहते रहते हैं कि महेंद्र सिंह धोनी भारत के सबसे सफल कप्तान हैं. क्यों? क्योंकि उनकी अगुआई वाली टीम ने दो विश्व कप और तीन आईपीएल खिताब जीते हैं. उन्होंने कहा, रोहित ने पांच आईपीएल खिताब जीते हैं, वह टूर्नामेंट के इतिहास के सबसे सफल कप्तान हैं. भविष्य में अगर उसे भारत की सीमित ओवरों या टी-20 टीम की कप्तानी नहीं मिलती तो यह शर्मनाक होगा.

गंभीर ने कहा, क्योंकि वह इससे अधिक कुछ नहीं कर सकता. वह सिर्फ उन टीमों को जीत दिलाने में मदद कर सकता है जिनकी वह कप्तानी कर रहा है. इसलिए अगर वह सीमित ओवरों के प्रारूप में भारत का नियमित कप्तान नहीं बनता है तो यह उनका (भारत का) नुकसान होगा. रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के आईपीएल खिताब जीतने के नाकाम रहने के लिए विराट कोहली को जवाबदेह बनाने की मांग कर चुके गंभीर ने कहा कि उनके कहने का मतलब यह नहीं था कि कोहली की कप्तानी ‘खराब’ है लेकिन उन्होंने बस सुझाव दिया था कि कप्तानी बांटने का मॉडल समय की जरूरत है.

गंभीर ने कहा, वह कप्तानी बांटने पर विचार कर सकते हैं. कोई भी बुरा नहीं है. रोहित ने सीमित ओवरों के प्रारूप में दिखाया है कि उसकी और विराट की कप्तानी में कितना बड़ा अंतर है. एक खिलाड़ी की अगुआई में उसकी टीम ने पांच खिताब जीते, दूसरे ने अब तक नहीं जीता. उन्होंने कहा, मैं यह इसलिए नहीं कह रहा क्योंकि कोहली बुरा कप्तान है लेकिन उसे भी वहीं मंच मिला है तो रोहित को मिला है, इसलिए आपको दोनों को समान पैमाने पर मापना होगा.

Spread the love