आज से शिक्षा विभाग में बढ़ जाएंगे 16 हजार शिक्षक और…. 1 जुलाई को संविलियन होना है प्रस्तावित…. संविलियन दिवस की पूर्व संध्या से मुख्यमंत्री का शिक्षाकर्मी जता रहे आभार…. आदेश का बेसब्री से हो रहा है इंतजार

रायपुर 1 जुलाई 2020. प्रदेश के 16000 शिक्षाकर्मियों के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है.  कल इन शिक्षाकर्मियों का पंचायत विभाग में अंतिम दिन था और आज से वह स्कूल शिक्षा विभाग के कर्मचारी हो जाएंगे हालांकि अभी तक राज्य कार्यालय से इस संबंध में आदेश जारी नहीं हुआ है लेकिन इसके पहले 1 जनवरी 2020 को होने वाले संविलियन का पत्र भी उसकी पूर्व संध्या को ही आया था इसलिए शिक्षाकर्मियों को उम्मीद है कि आज या फिर आने वाले कुछ दिनों में उनके लिए आदेश आ जाएगा.

लोक शिक्षण संचालनालय के वित्त नियंत्रक ने जिला शिक्षा अधिकारियों को अभी 2 दिन पहले जो पत्र जारी किया है. उसमें भी इस बात को स्पष्ट कर दिया गया है कि 2 वर्ष की सेवा अवधि पूर्ण कर चुके सभी शिक्षाकर्मियों का संविलियन 1 जुलाई के डेट पर किया जाएगा ऐसे में संविलियन को लेकर किसी के मन में कोई भ्रम की स्थिति नहीं है केवल आदेश का ही बस इंतजार है और अब शिक्षाकर्मी भी इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि भले ही उनका आदेश आने में थोड़ा विलंब हो सकता है लेकिन उन्हें संविलियन का लाभ 1 जुलाई के डेट पर ही मिलेगा और सरकार उनके साथ न्याय अवश्य करेगी.

शिक्षाकर्मी ट्वीट करके मुख्यमंत्री और सरकार का जता रहे है आभार

संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों की यह विशेषता है कि वह शासन प्रशासन का आभार जताने से कभी नहीं चूकते यही वजह है कि कम संख्या में होने के बावजूद भी उन्होंने इतनी लंबी लड़ाई जीत ली सरकार से टकराव के बजाय निवेदन का रास्ता अख्तियार करने वाले 16 हजार शिक्षाकर्मियों ने आदेश जारी न होने के बावजूद धैर्य रखते हुए आज भी मुख्यमंत्री को बजट भाषण के लिए धन्यवाद देते हुए उनसे विनम्र निवेदन किया है जिसे रणनीतिक रूप से भी एक बेहतर पहल माना जा सकता है.

बड़ी तादाद में शिक्षाकर्मी लगातार ट्वीट को रिट्वीट कर रहे हैं, संविलियन अधिकार मंच के बैनर तले हो रहे इस अभियान को शिक्षाकर्मियों का व्यापक साथ मिल रहा है इधर शिक्षाकर्मियों के पुराने और वरिष्ठ नेता केदार जैन ने भी पत्र लिखकर मुख्यमंत्री से संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों के लिए राज्य कार्यालय से आदेश जारी करने की अपील की है ।

स्कूल शिक्षा विभाग पर जमी है अब शिक्षाकर्मियों की निगाहें

प्रदेश के अब हजारों शिक्षाकर्मियों की निगाहें स्कूल शिक्षा विभाग और उसके प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला पर लगी हुई है क्योंकि उन्हीं के हस्ताक्षर से 2 वर्ष की सेवा अवधि वाले शिक्षाकर्मियों का संविलियन होने का आदेश जारी होगा । आदेश जारी करने के साथ साथ स्कूल शिक्षा विभाग समय सारणी भी जारी करेगा जिसके हिसाब से स्थानीय कार्यालय पूरी प्रक्रिया को संपन्न करवाएंगे। कुल मिलाकर आज का दिन शिक्षाकर्मियों के लिए यादगार रहेगा.

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!