comscore

वन मंत्री के बेटे पर फिरौती के लिए अपहरण का आरोप: कारोबारी बोला- 50 लाख भी मांगे… पुलिस जांच में जुटी

जालोर 21 जुलाई 2021. राजस्थान के जालोर में तीन दिन पहले चितलवाना के कारोबारी प्रकाश विश्नोई के अपहरण के मामले में नया मोड़ सामने आया है। पीड़ित कारोबारी जालोर एसपी के सामने पेश हुआ। उसने अपहरण की साजिश में वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम के बेटे भूपेंद्र विश्नोई का हाथ बताया है. यह भी आरोप लगाया कि मंत्री के बेटे ने 50 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। कारोबारी के शरीर पर चोटों के निशान हैं। पीड़ित कारोबारी ने आरोप लगाया कि पुलिस राजनीतिक दबाब में आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है।

हालांकि युवक की और से बातों में कितनी सच्चाई है यह तो पुलिस जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। फिलहाल इस मामले को लेकर पुलिस की ओर से मामले की जांच की जा रही है। अपहरणकर्ताओं के चंगुल से बचकर एसपी ऑफिस में पेश हुए अपहृत युवक के शरीर पर चोट के गंभीर निशान लगे हुए हैं। पुलिस की ओर से युवक का मेडिकल करवाया जा रहा है।

किडनैप किए गए युवक ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने उसकी पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई के पुत्र भूपेंद्र विश्नोई से फोन पर बात करवाई थी। मंत्री पुत्र ने फोन पर उसे इस परेशानी से बचने के लिए ₹50 लाख देने की बात कही। पीड़ित प्रकाश विश्नोई ने बताया कि अपहरण के बाद उसे हरियाणा ले जाया गया। जहां फिरौती को लेकर उसके साथ जमकर मारपीट की गई। मारपीट में ज्यादा चोट लगने के कारण उसे किसी अस्पताल ले जाया गया। जहां से वह किसी तरह अपनी जान बचाकर जालोर पहुंचा।

इस बीच भूपेंद्र बिश्नोई ने आरोपों से इनकार करते हुए इसे राजनीतिक साजिश बताया है। उन्होंने कहा, ”मैं इन आरोपों से हैरान हूं। वास्तव में 17 जुलाई को जब मुझे घटना की जानकारी हुई तो मैंने पुलिस से बात की और अपहरणकर्ताओं को पकड़ने को कहा और प्रकाश को सुरक्षा देने की मांग की। आरोप मेरी छवि को नुकसान पहुंचाने के लिए लगाए गए हैं।”

Spread the love