इतिहास में पहली बार…केदारनाथ और बद्रीनाथ के धाम खुलने की तारीख बढ़ी आगे…अब इस डेट को खुलेंगे धाम के कपाट…

रायपुर 21 अप्रैल 2020 उत्तराखंड में केदारनाथ मंदिर  के कपाट इस बार 14 मई को खोले जाएंगे. इसके साथ ही बद्रीनाथ मंदिर के कपाट 15 मई को सुबह 4 बजे खुलेंगे. इस बात की घोषणा उत्तराखंड के संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज  ने देहरादून में की. उन्होंने बताया कि टिहरी के महाराजा ने देश के मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए दोनों ही तीर्थ स्थानों को खोले जाने के निर्णय की सूचना उनको दी है.

इतिहास में पहल बार ऐसा हो रहा है कि केदारनाथ और बद्रीनाथ मंदिर के कपाट को खोले जाने में देरी सामने आई है. कोरोनावायरस और लॉकडाउन की स्थिति को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है.

इससे पहले कपाट खोलने की तिथि महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर तय होती थी. इस बार भी महाशिवरात्रि के दिन ही दोनों तीर्थ स्थानों के कपाट खोलने की तारीख तय होनी थी. गौरतलब है कि केदारनाथ जी के गद्दी स्थल ओम्कारेश्वर मंदिर, ऊखीमठ में केदारनाथ के रावल भीमाशंकर शिवलिंग, स्थानीय दस्तूरदार और वेदपाठी गणों की मौजूदगी में पंचांग गणना के अनुसार मंदिर के कपाट खोले जाने की परंपरा रही है.

इससे पहले तय था कि केदारनाथ मंदिर के कपाट 29 अप्रैल को खुलेंगे. वहीं बद्रीनाथ मंदिर के कपाट 30 मई को खुलेंगे. यमनोत्री और गंगोत्री के कपाट खुलने की तारीख भी बदले जाने की संभावना बढ़ गई है. ये दोनों मंदिर हर साल अक्षय तृतीया को खुलते हैं. इस साल यह पर्व 26 अप्रैल को है.

देवभूमि उत्तराखंड में स्थित केदानाथ  और बदरीनाथ  धाम लोगों की प्रमुख आस्था का केंद्र है. वहीं हिमालय पर्वत की गोद में स्थित केदारनाथ मंदिर 12 ज्योतिर्लिगों में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक है. वही अलकनंदा नदी के बाएं तट पर नर और नारायण नामक दो पर्वतों के बीच स्थित बदरीनाथ धाम भी अपनी अनोखी छटा के लिए काफी प्रसिद्ध है.

Spread the love