कांग्रेस नेता सहित 13 पर FIR : जमातियों का “जलसा” कराने और दावत देने वालों पर गिरी गाज… कांग्रेस नेता व विधायक प्रतिनिधि पर भी मामला हुआ दर्ज…. सत्संग भी कराया और जमातियों को पार्टी भी दी थी

 कोरबा 11 अप्रैल 2020। कोरोना फैलाने वाले जमातियों के मददगारों पर भी अब गाज गिरने लगी है। जिला प्रशासन ने कांग्रेस नेता सहित एक दर्जन से ज्यादा लोगों के खिलाफ FIR दर्ज किया है। कोरबा में कोरोना पीड़ित एक जमाती मिला था, जो 16 जमातियों के साथ कटघोरा के जामा मस्जिद में रूका था। आरोप है कि उन जमातियों ने 20 मार्च को जुराली के मस्जिद में एक जलसा किया था, सामूहिक नवाज अता की थी और दावत में भी ये सभी शरीक हुए थे। जमातियों के इस करतूत से समाज के कई लोगों में कोरोना फैलने का खतरा बढ़ गया था।

आरोप के मुताबिक जिन लोगों पर मामला दर्ज किया गया, वो जानबूझकर जमातियों के जलसे में खुद तो शामिल हुए ही, अन्य लोगों को भी शामिल कराया, जिसकी वजह से आसपड़ोस के कई लोग कोरोना से संक्रमित हो गये। हाल में जिन 7 लोगों की रिपोर्ट पाजेटिव आयी है, उनमें से अधिकांश इसी धार्मिक आयोजन की वजह से संपर्क में आये लोग थे। सभी के खिलाफ दो अलग-अलग धाराओं के तहत कार्रवाई की गयी है।

जमातियों ने ये धार्मिक आयोजन तब किया, जब पूरे जिले में कलेक्टर किरण कौशल ने धारा 144 लगा रखा था। प्रशासन के आदेश को ठेंगा दिखाते हुए बाहर से आये 16 जमातियों का कार्यक्रम जुराली के मस्जिद में कराया गया था और दावत भी उड़ाया गया था। इस पूरे आयोजन के संचालक 13 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है। जिन लोगों पर मामला दर्ज किया गया है, उनमें एक कांग्रेस नेता और कटघोरा विधायक का विधायक प्रतिनिधि भी शामिल हैं।

जिन लोगों पर एफआईआर किया गया है। उसमें कांग्रेस नेता शेख इस्तियाक का नाम प्रमुख है, वहीं जामा मस्जिद के इमाम आमीर, अजान अदा करने वाले मोबिन खान, उसके भाई अब्दुल रहमान, आयोजक मोहम्मद खालिद, मोहम्मद शाहिद, साजिद मेमन, आदिल मोहम्मद, महमूद अली, और कांग्रेस नेता के बेटे संयद अश्फाक अली, जुराली गांव के इलियास, रोशन शामिल हैं।

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.