बौखलाये जवान ने थाने में की अंधाधुंध फायरिंग…. जवानों ने नक्सली हमला समझकर अपने ही साथी को भून डाला…. ये थी जवान के नाराजगी की वजह

मुंगेर 13 जनवरी 2021। छुट्टी नहीं मिली तो बौखलाये होमगार्ड जवान ने थाने में ही अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। …इधर गोलियों की आवाज से थर्राये थाने के पुलिसकर्मियों ने इसे नक्सली हमला समझकर फायरिंग खोल दिया, जिसमें होमगार्ड जवान की मौत हो गयी। घटना मुंगेर के बरियारपुर थाना की है। सोमवार देर रात अपने सर्विस राइफल से होम गार्ड जवान मोहम्‍मद जाहिद बरियारपुर थाना परिसर के शौचालय के पास से गोली चला रहा था. अपराधियों के द्वारा थाने पर हमले की आशंका पर थाने में रात्रि ड्यूटी में तैनात अन्य जवानों ने भी मोर्चा संभाला और फायरिंग शुरू कर दी.

फायरिंग की सूचना पर फ़ौरन थानाध्यक्ष ने एसपी को घटना की सूचना दी. सूचना मिलते ही मौके पर एसपी मौके पर पहुंचे. दोनों तरफ से गोली चली में होमगार्ड का जवान मारा गया. दोनों तरफ से लगभग 50 राउंड गोली चली.

दरअसल, मारा गया होमगार्ड का जवान तीन दिन पहले बरियारपुर थाना में पोस्‍टेड हुआ था. वह 1989 में होमगार्ड में भर्ती हुआ था. जवान के परिजन दो दिन पहले बरियारपुर थाना पहुंच कर अधिकारि‍यों से जवान को तबीयत ख़राब होने के कारण कुछ दिन की छुट्टी देने की बात कही थी.जब उसी छुट्टी सेंशन नहीं हुई तो होमगार्ड का जवान मानसिक संतुलन खोते हुए थाना परिसर के कोने में बने शौचालय के पास से अपने सर्विस राइफल से बिना किसी कारणवश थाने को टारगेट कर गोली चलाने लगा.

गोली चलने के बाद थाने में तैनात जवानों के द्वारा भी जवाबी कार्रवाई में गोली चलाई गई जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. वहीं, मारे गए जवान के बेटे ने पुलिस पर आरोप आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे पिता की हत्या की गई है.

Spread the love