npg
Exclusive

उड़नपरी की ऊंची उड़ान: राज्यसभा सांसद के बाद अब भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष चुनी गईं पीटी उषा, पहली महिला ओलंपियन जिन्हें यह जिम्मेदारी

इस साल जुलाई महीने में पीटी उषा को राज्यसभा सांसद चुना गया। उनके अलावा संगीतकार इलैया राजा, वीरेंद्र हेगड़े और वी विजयेंद्र प्रसाद भी राज्यसभा सांसद बनाए गए हैं।

उड़नपरी की ऊंची उड़ान: राज्यसभा सांसद के बाद अब भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष चुनी गईं पीटी उषा, पहली महिला ओलंपियन जिन्हें यह जिम्मेदारी
X

NPG ब्यूरो। उड़नपरी के नाम से मशहूर महान धाविका पीटी उषा भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) की निर्विरोध अध्यक्ष चुनी गई हैं। पीटी उषा देश की पहली महिला ओलंपियन हैं, जो भारतीय ओलंपिक संघ के 95 साल के इतिहास में अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालेंगी। महाराजा यादविंदर सिंह के बाद यह पद संभालने वाली दूसरी खिलाड़ी होंगी। यादविंदर सिंह ने एक टेस्ट मैच खेला था और 1938 में अध्यक्ष बने थे। इससे पहले आपको बता दें कि भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष के नामांकन के लिए 27 नवंबर की समय सीमा थी। इस दौरान सिर्फ पीटी उषा ने नामांकन भरा था। इस तरह वे निर्विरोध अध्यक्ष चुन ली गईं।


भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष के अलावा अन्य पदों के लिए 14 लोगों ने नामांकन जमा किया है। 10 तारीख को इन पदों के लिए चुनाव होंगे। इनमें उपाध्यक्ष (महिला), संयुक्त सचिव (महिला) के पद के लिए मुकाबला होगा। इसी तरह कार्यकारिणी परिषद के चार सदस्यों के लिए 12 नामांकन आए हैं। एक वरिष्ठ उपाध्यक्ष, दो उपाध्यक्ष (एक पुरुष व एक महिला), एक कोषाध्यक्ष, दो संयुक्त सचिव (एक पुरुष व एक महिला), छह अन्य कार्यकारी परिषद सदस्यों के लिए भी चुनाव होंगे। बता दें कि इनमें से दो (एक पुरुष व एक महिला) निर्वाचित "एसओएम' से होंगे। कार्यकारी परिषद के दो सदस्य (एक पुरुष व एक महिला) एथलीट आयोग के प्रतिनिधि होंगे।

इधर, पीटी उषा के निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने पर केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट किया, "पीटी उषा को भारतीय ओलंपिक संघ का अध्यक्ष चुने जाने पर बधाई। मैं अपने देश के सभी स्पोर्टिंग हीरोज को भी IOA के पदाधिकारी बनने पर बधाई देता हूं। देश को उन पर गर्व है।'


देश की सफल एथलीट्स में एक

58 साल की पीटी उषा को भारतीय ट्रैक और फील्ड की रानी कहा जाता है। उन्हें "पय्योली एक्सप्रेस' के नाम से भी जाना जाता है। वे देश की सबसे सफल एथलीट में से एक हैं। उषा ने 1982 से 1994 तक एशियाई खेलों में चार स्वर्ण सहित 11 पदक जीते। उन्होंने 1986 के सियोल एशियाई खेलों में सभी चार स्वर्ण (200 मीटर, 400 मीटर, 400 मीटर बाधा दौड़ और चार गुणा 400 मीटर रिले) पदकों के साथ ही 100 मीटर में रजत भी जीता था। उषा ने 1982 नई दिल्ली एशियाई खेलों में 100 मीटर और 200 मीटर में पदक जीते। कुल मिलाकर उन्होंने 1983 से 1998 तक एशियाई चैम्पिपियनशिप में कुल 23 पदक जीते।

इस साल जुलाई महीने में उन्हें भाजपा ने राज्यसभा में भेजने का फैसला लिया। उनके अलावा संगीतकार इलैयाराजा, वीरेंद्र हेगड़े और वी. विजयेंद्र प्रसाद को भी राज्यसभा सांसद बनाया गया है।

Next Story