npg
Exclusive

एसपी, आईजी की छुट्टीः शिकारियों ने 3 पुलिसकर्मियों को मारी गोली... सब इंस्पेक्टर सहित तीन पुलिसकर्मियों की मौत, सरकार का बड़ा एक्शन

एसपी, आईजी की छुट्टीः शिकारियों ने 3 पुलिसकर्मियों को मारी गोली... सब इंस्पेक्टर सहित तीन पुलिसकर्मियों की मौत, सरकार का बड़ा एक्शन
X

भोपाल 14 मई 2022। मध्यप्रदेश में अलग-अलग घटनाओं में सरकार ने बड़ा एक्शन लेते हुए आईजी और एसपी को हटा दिया। शिकारियों द्वारा तीन पुलिस कर्मियों की हत्या और मॉब लिचिंग मामले में सरकार ने ये कार्रवाई की।

मध्य प्रदेश के गुना में शिकारियों ने तीन पुलिसकर्मियों की ह्त्या कर दी है। मृतकों के नाम सब इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव, आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम हैं। गुना के एसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि पुलिस टीम पर शिकारियों ने अचानक से हमला किया, जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने इस मामले में बड़ा एक्शन लेते हुए ग्वालिया रेंज के आईजी अनिल शर्मा को हटा दिया। उन पर आरोप है कि घटना के बाद देर से घटनास्थल पर पहुंचे। वहीँ सिवनी में दो आदिवासियों के साथ हुई मॉब लॉन्चिंग मामले में एसपी कुमार प्रतीक को हटा दिया गया है।

गुना में देर रात पुलिस को खबर मिली थी कि कुछ लोग जंगल में काले हिरण का शिकार करने के इरादे से आए हुए हैं। आनन-फानन में पुलिस की टीम शिकारियों से घेरने के इरादे से पहुंची। पुलिस ने घेराबंदी की तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। इस घटना में एसआई राजकुमार, हवलदार संतराम मीना और सिपाही नीरज भार्गव की मौत हो गई है। शिकारियों के पास से पांच हिरण और एक मोर के अवशेष जब्त किए गए हैं। यह घटना तड़के 4ः00 बजे की बताई जा रही है। हमले में तीन पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। जिन्हें बेहतर इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमारे पुलिस के मित्रों ने शिकारियों का मुकाबला करते हुए शहादत दी है। इस घटना में दोषी अपराधियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई होगी जो इतिहास में उदाहरण बनेगी। अपराधियों की पहचान हो गई है। घटना की पूरी जांच हो रही है। घटना में शहादत देने वाले तीनों पुलिस के साथी ैप् राजकुमार जाटव,आरक्षक नीरज भार्गव, आरक्षक संतराम की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। इन्होंने कर्तव्य की बलिवेदी पर अपने जीवन को न्यौछावर किया है। उन्हें शहीद का दर्जा देकर 1-1 करोड़ की सम्मान निधि परिवार को दी जाएगी। परिवार के एक सदस्य को शासकीय सेवा में लिया जाएगा। पूरे सम्मान के साथ शहीद पुलिसकर्मियों का अंतिम संस्कार किया जाएगा। अंतिम संस्कार में जिलों के प्रभारी मंत्री शामिल होंगे। घटना के बाद पहुंचने में देरी करने पर ग्वालियर आईजी को तत्काल हटाने का फैसला किया है।

इधर, मध्य प्रदेश के सिवनी में दो आदिवासियों के साथ हुई मॉब लॉन्चिंग मामले में सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए सिवनी एसपी कुमार प्रतीक समेत थाना कुरई और बदलापुर चौकी के पूरे स्टाफ को तत्काल प्रभाव से हटाने को कहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को गुना की घटना को लेकर बुलाई आपात कालीन बैठक के बाद सिवनी की घटना को लेकर भी चर्चा की। इसमें मुख्यमंत्री ने एसआईटी का गठन करने और शीघ्र जांच कराने के निर्देश दिए है। वहीं घटना क्षेत्र के पुलिस थाना कुरई थाना क्षेत्र और बादलपार चौकी के पूरे स्टाफ को तत्काल प्रभाव से हटाने के भी निर्देश दिए है।

Next Story