npg
Exclusive

CG के सांसद-विधायक बने राष्ट्रपति के प्रस्तावक: द्रौपदी मुर्मू कल जमा करेंगी नामांकन, केंद्रीय नेतृत्व के साथ भाजपा के सारे सीएम होंगे शामिल

भाजपा ने सभी सांसदों को प्रस्तावक के रूप में शामिल होने के लिए बुलाया था।

CG के सांसद-विधायक बने राष्ट्रपति के प्रस्तावक: द्रौपदी मुर्मू कल जमा करेंगी नामांकन, केंद्रीय नेतृत्व के साथ भाजपा के सारे सीएम होंगे शामिल
X

रायपुर। भाजपा व एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू शुक्रवार को नामांकन जमा करेंगी। इस दौरान भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के साथ-साथ एनडीए के सहयोगी व भाजपा के सभी राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे। इससे पहले गुरुवार को संसदीय कार्यमंत्री प्रल्हाद जोशी के निवास पर देशभर से भाजपा के सांसद व कुछ विधायकों को बुलाया गया, जो प्रस्तावक बने। छत्तीसगढ़ से केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह, रामविचार नेताम, संतोष पांडेय, मोहन मंडावी, विधायक पुन्नूलाल मोहले, ननकीराम कंवर व डमरूधर पुजारी आदि प्रस्तावक बने हैं।

द्रौपदी मुर्मू गुरुवार को ओडिशा से नई दिल्ली पहुंची। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह व उप राष्ट्रपति वैंकैया नायडु से भेंट की। वे शुक्रवार को नामांकन जमा करेंगी। इसके बाद प्रचार अभियान शुरू करेंगी और अलग-अलग राज्यों में जाएंगी। राष्ट्रपति के लिए 18 जुलाई को मतदान होगा। मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने पर जनजातीय समाज के साथ-साथ आरएसएस ने भी ऐतिहासिक बताया है।


छत्तीसगढ़ के राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने इस फैसले को न भूतो न भविष्यति कहा है। उन्होंने कहा कि यह पीएम नरेंद्र मोदी का मास्टर स्ट्रोक है।


वहीं, सांसद संतोष पांडेय ने कांग्रेस नेताओं के बयानों पर पलटवार किया है कि जब कांग्रेस को राष्ट्रपति बनाने का मौका मिला, तब सोनिया गांधी की वफादार प्रतिभा पाटिल को बनाया गया। भाजपा को जब पहली बार मौका मिला, तब दलित, शोषित और पिछड़े समाज से रामनाथ कोविंद को मौका दिया गया। अब जब दूसरी बार मौका मिला है, तब वनवासी समाज को मौका दिया गया है। कांग्रेस और भाजपा के संस्कार आैर चरित्र में यही अंतर है। पीएम नरेंद्र मोदी ने सामाजिक समरसता को प्रदर्शित किया है। अपने वफादार को उम्मीदवार बनाने के बजाय को राष्ट्र के लिए उचित हैं, उन्हें मौका दिया है।

Next Story