npg
Exclusive

CCTV पर बड़ा अभियान: आईजी आरिफ शेख ने तय की 3 प्राथमिकताएं, हर जिले की जरूरत के मुताबिक कार्ययोजना, पढ़ें क्या कहा नए आईजी ने...

2005 बैच के आईपीएस आरिफ शेख कम्यूनिटी पुलिसिंग के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत हो चुके हैं, लेकिन उनका मानना है कि इसका लक्ष्य सिर्फ पुलिसिंग ही हो, सिर्फ मीडिया की सुर्खियों तक सीमित न हो।

CCTV पर बड़ा अभियान: आईजी आरिफ शेख ने तय की 3 प्राथमिकताएं, हर जिले की जरूरत के मुताबिक कार्ययोजना, पढ़ें क्या कहा नए आईजी ने...
X

रायपुर। रायपुर रेंज के अंतर्गत चार जिलों महासमुंद, धमतरी, गरियाबंद और बलौदाबाजार (MDGB) में एक बार फिर मिशन सिक्योर सिटी को एक्टिवेट किया जाएगा। शहरी क्षेत्र के साथ-साथ देहात में भी सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। साथ ही, ऐसा मैकेनिज्म तैयार किया जाएगा, जिससे नियमित रूप से निगरानी हो सके। नए आईजी आरिफ शेख ने इसे पहली प्राथमिकता के आधार पर लागू करने का निर्णय लिया है। जॉइनिंग के बाद वे बुधवार को पहली बैठक लेंगे। इसमें कानून व्यवस्था की समीक्षा करने के साथ-साथ जिले की जरूरत के मुताबिक कार्ययोजना तैयार करेंगे।

छत्तीसगढ़ कैडर के 2005 बैच के आईपीएस आरिफ शेख ने NPG.News से चर्चा में अपनी 3 प्राथमिकताएं बताईं। उन्होंने कहा कि तत्कालीन आईजी प्रदीप गुप्ता के कार्यकाल में मिशन सिक्योर सिटी चलाया गया था। इसे फिर से एक्टिवेट किया जाएगा। ज्यादातर शहरों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, लेकिन यह देखने में आता है कि जरूरत के समय पर कैमरे बंद मिलते हैं। इसके लिए प्रॉपर व्यवस्था बनाई जाएगी, जिससे सीसीटीवी कैमरे नियमित रूप से चालू रहें और कोई भी तकनीकी खराबी हो तो उसे समय पर दुरुस्त किया जा सके।


गरियाबंद-धमतरी में ऑपरेशन

रेंज के चारों जिलों में नक्सल गतिविधि रही है। गरियाबंद और धमतरी में अभी भी नक्सलियों की आमदरफ्त की खबरें आती रहती हैं। उन क्षेत्रों को फोकस कर नए कैम्प खोलने और जॉइंट ऑपरेशन चलाया जाएगा, जिससे पैर जमाने का मौका न मिले।

बेसिक पुलिसिंग पर रहेगा जोर

आईजी शेख ने बताया कि सीएम भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप बेसिक पुलिसिंग पर जोर रहेगा। थाने में लोगों की शिकायतें सुनी जाएं। महिलाओं के विरुद्ध अपराध में पुलिस पूरी संवेदनशीलता के साथ उनकी समस्या सुनें और त्वरित कार्यवाही करें।

गांजे की तस्करी पर रहेगी नजर

उन्होंने बताया कि महासमुंद या गरियाबंद के रास्ते गांजे की तस्करी के जो पॉइंट हैं, उन पर नजर रखी जाएगी। सीमावर्ती जिलों की पुलिस के साथ को-ऑर्डिनेशन बनाकर काम करेंगे, जिससे तस्करों के साथ-साथ सप्लायरों के खिलाफ भी कार्रवाई हो सके।

कम्यूनिटी पुलिसिंग का उद्देश्य पुलिसिंग हो

आमचो बस्तर आमचो पुलिस, संवेदना कक्ष, हर हेड हेलमेट, मिशन ई-रक्षा, राखी विद खाकी, चुप्पी तोड़ो जैसे अभियान के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत होने वाले आईपीएस शेख का कहना है कि इन सबका उद्देश्य पुलिसिंग ही होना चाहिए, सिर्फ मीडिया की सुर्खियां बनना नहीं। हर हेड हेलमेट के जरिए चालीस हजार से ज्यादा लोगों को हेलमेट देने से ट्रैफिक जागरूकता ही नहीं, बल्कि हेलमेट का उपयोग करने वालों की संख्या बढ़ी। यह अभियान गिनीज बुक और लिम्का बुक में भी दर्ज हुआ। चुप्पी तोड़ो से महिलाओं के साथ हो रही हिंसा पर कार्रवाई की गई।

ऐसे आईजी जिनकी सभी जिलों में रही पोस्टिंग

आरिफ शेख ऐसे आईजी हैं, जिनकी रेंज के सभी जिलों में पोस्टिंग रही है। वे बलौदाबाजार, गरियाबंद, धमतरी के अलावा कुछ दिनों के लिए महासमुंद के प्रभारी एसपी रहे हैं। बालोद, बस्तर, बिलासपुर और रायपुर एसपी के कार्यकाल में उन्होंने कई महत्वपूर्ण कार्य किए हैं।

Next Story