npg
Exclusive

एयरपोर्ट सिक्योरिटी चेकिंग: कितने कठोर हैं पश्चिमी देशों के एयरपोर्ट पर सुरक्षा जांच के नियम

एयरपोर्ट सिक्योरिटी चेकिंग: कितने कठोर हैं पश्चिमी देशों के एयरपोर्ट पर सुरक्षा जांच के नियम
X

भगवंत मान से पहले भी कौन-सी हस्तियां आईं जांच के दायरे में...

NPG DESK

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को जर्मनी के फ्रेंकफर्ट में प्लेन से उतार दिया गया।भले ही शराब पीने के आरोप में उन्हें प्लेन से उतारा गया, उनके साथ एयरपोर्ट पर लंबा विवाद भी चला लेकिन ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। भारतीय राजनीतिज्ञ और अन्य सेलिब्रिटीज़ को विदेशी ज़मीन पर कई बार ऐसीअसुविधाजनक स्थितियों का सामना करना पड़ा है। पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम,रक्षामंत्री जाॅर्ज फर्नांडीस से लेकर अभिनेता शाहरुख खान, जाॅन इब्राहिम तक के साथ विदेशी एयरपोर्ट पर बेहद सख़्त व्यवहार किया गया है। कुछ मामलों पर नज़र डालते हैं -

अमेरिका में पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की ली गई थी सघन तलाशी

2011में न्यूयॉर्क के जॉन एफ कैनेडी हवाई अड्डे पर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को दो बार सघन सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ा था। पहली बार तो उनकी सामान्य तरीके से जांच की गई थी, मगर दूसरी बार में एयर इंडिया के विमान के अंदर जबरन उनकी तलाशी ली गई थी।कलाम द्वारा यह बताने के बावजूद कि वे भारत के पूर्व राष्ट्रपति हैं, जांच के नाम पर उनका जैकेट और जूते उतरवा लिए गए थे।

हालांकि, बाद में उनका सामान लौटा दिया गया था।और भारत के कड़े विरोध के बाद अमेरिका ने इसके लिए माफी मांगी थी और अपने अधिकारी को हटा भी दिया था।

लंदन में बाबा रामदेव से हुई छह घंटे पूछताछ

लंदन के हीथ्रो हवाई अड्‍डे पर बाबा रामदेव को 6 घंटे रोककर पूछताछ की गई। बताया जाता है कि बाबा रामदेव को इमिग्रेशन और कस्टम अधिकारियों ने रोककर पूछताछ की। कहा गया कि उनके पास बिजनेस क्लास की जगह विज़िटर वीजा था, इसलिए उनसे पूछताछ की गई।

जॉर्ज फर्नांडिस की दो बार हुई थी सघन तलाशी 2002 और 2003 में अमेरिका यात्रा के दौरान हवाई अड्डे पर तलाशी के दौरान देश के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस के कपड़े तक उतरवाए गए थे। भारत द्वारा कहे जाने के बाद भी कि वह रक्षा मंत्री हैं, अमेरिकी अधिकारियों ने उन्हें सघन जांच से प्रक्रिया से गुजारा था। इसका खुलासा साल 2004 में अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री टालबोट की किताब से हुआ था। पहली बार अमेरिका की यात्रा के दौरान जॉर्ज साहब की सघन तलाशी हुई थी, वहीं दूसरी बार ब्राजील जाते वक्त कुछ समय के लिए उनका अमेरिका में ठहराव था।

अमेरिका में भारतीय राजदूत मीरा शंकर की तलाशी

साल 2010 में अमेरिकी एयरपोर्ट पर तत्कालीन भारतीय राजदूत मीरा शंकर को साड़ी पहने होने के कारण अधिकारियों ने उन्हें लाइन से अलग हटाकर उनकी तलाशी ली थी।

हरदीप पुरी की पगड़ी की ली गई हाथों से तलाशी

संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि हरदीप पुरी को अमेरिकी एयरपोर्ट पर पगड़ी पहने होने के कारण अपमानजनक स्थिति से गुजरना पड़ा था।अमेरिकी सुरक्षा अधिकारियों ने उनकी पगड़ी की हाथों से तलाशी ली थी।

शाहरुख खान की भी कई बार हो चुकी है गहन जांच

अमेरिका एयरपोर्ट पर बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान की कई बार सघन तलाशी ली जा चुकी है। शाहरुख खान को एक बार नहीं, बल्कि कई बार अमेरिकी एयरपोर्ट पर रोका गया।शाहरुख खान को 2009 में पहली बार न्यूयॉर्क एयरपोर्ट पर रोका गया था और काफी समय तक उन्हें बैठा कर उनकी और उनके सामान की तलाशी ली गई थी। ऐसा बताया जाता है कि शाहरुख खान के सरनेम की वजह से ही कई बार उनके साथ ऐसी घटनाएं हुईं। शाहरुख खान हमेशा यह कहते आए हैं कि जांच के नाम पर उन्हें पश्चिमी देशों के हवाई अड्‍डों पर रोका जाता है। जांच अधिकारी घंटों उनसे पूछताछ करते हैं।

लंदन में भी शाहरुख खान को ऐसी ही स्थिति का सामना करना पड़ा था। उन्होंने लंदन हवाई अड्डे पर लगी मशीनों पर भी सवाल उठाए थे।उन्होंने कहा था कि हीथ्रो एयरपोर्ट पर लगी जांच मशीनें आपको शर्मिंदा कर देती हैं।

कीर्ति आजाद को रोका गया था पौने दो घंटे

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और भाजपा नेता कीर्ति आजाद लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे से जब भारत लौट रहे थे तब उन्हें अलग कमरे में ले जाया गया और ड्‍यूटी ऑफिसर ने तलाशी के लिए उनसे कपड़े उतारने को कहा था।जांच अधिकारियों ने कीर्ति के सामान ‍में विस्फोटक होने का संदेह किया था। करीब 1 घंटे और 45 मिनट तक कीर्ति की जांच और पूछताछ की गई थी।

इरफान खान से भी हुई थी पूछताछ

बॉलीवुड एक्टर इरफान खान भी सुरक्षा जांच के चलते परेशान हुए थे। साल 2008 में अमेरिका के लॉस एंजेलिस में और 2009 में न्यूयॉर्क एयरपोर्ट पर उनकी तलाशी ली गई थी। इरफान ने बताया था कि फिल्मों में वो अपने नाम के आगे खान नहीं लिखते लेकिन वीजा में उनका पूरा नाम और धर्म लिखा हुआ है। जिसके कारण ये हुआ था।

जाॅन अब्राहम रोके गए न्यूयाॅर्क में

जॉन अब्राहम को भी साल 2009 में न्यूयॉर्क एयरपोर्ट पर इसलिए रोका गया था क्योंकि उनके पासपोर्ट पर लिखा था कि वे अफगानिस्तान जा चुके हैं।

आज़म खान से बोस्टन के लोगान एयरपोर्ट पर हुई लंबी पूछताछ

उत्तरप्रदेश के शहरी विकास और संसदीय कार्य मंत्री रहे आजम खान को अमेरिका के हॉर्वर्ड बिजनेस स्कूल में व्याख्यान के लिए बुलाया गया था, जहां आजम खान को कुंभ जैसे विशाल और बड़े आयोजन और उसकी सफलता के बारे में विदेशी विद्यार्थियों को परिचित कराना था। बोस्टन के लोगान एयरपोर्ट पर उनकी तलाशी ली गई और पूछताछ की गई।इससे नाराज होकर आजम खान के अपने अमेरिका के दौरे को छोटा कर दिया था।

ऐसे और भी बहुत से उदाहरण हैं जब भारत के सम्मानित लोगों को पश्चिमी देशों के एयरपोर्ट पर जांच और पूछताछ से गुजरना पड़ा और जिसकी कड़ी प्रतिक्रिया सामने आई। लेकिन यह भी तथ्य है कि उन देशों में सुरक्षा के नियम बेहद कठोर हैं और वहां देश की सुरक्षा के मामले में 'खास' और 'आम' के बीच अंतर नहीं किया जाता। भारत में 'वीआईपी कल्चर' की जड़ें गहरी हैं इसलिए विदेशों से आने वाली इस तरह की खबरें हमें आज भी पीड़ादायक महसूस होती हैं।

Next Story