npg
Exclusive

अच्छी खबर: अब बाजार में उपलब्ध होगा कोविशील्ड और कोवाक्सिन... पर मेडिकल स्टोर से नहीं ले सकेंगे, इतनी हो सकती है कीमत

अच्छी खबर: अब बाजार में उपलब्ध होगा कोविशील्ड और कोवाक्सिन... पर मेडिकल स्टोर से नहीं ले सकेंगे, इतनी हो सकती है कीमत
X

नईदिल्ली 27 जनवरी 2022. ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने दो अहम कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन को खुले बाजार में बेचने की मंजूरी दे दी है। लेकिन ये मंजूरी कुछ शर्तों के साथ दी गई है. इस मंजूरी के बाद लोग अब अस्पताल और क्लीनिक से दी टीके खरीद सकते हैं लेकिन मेडिकल स्टोर पर ये वैक्सीन उपलूब्ध नहीं होगी। वहीं वैक्सीनेशन का हर 6 महीने में डीसीजीआई को जमा करमा होगा और कोविड ऐप पर भी अपडेट किया जाएगा।

भारत के दवा नियामक ने गुरुवार को कुछ शर्तों के अधीन वयस्क आबादी में उपयोग के लिए कोविड 19 टीकों कोविशील्ड और कोवाक्सिन को नियमित तौर पर बाजार में बेचने की मंजूरी दे दी। न्यू ड्रग्स एंड क्लिनिकल ट्रायल रूल्स, 2019 के तहत मंजूरी दी गई है। शर्तों के तहत, फर्म चल रहे नैदानिक परीक्षणों और प्रोग्रामेटिक सेटिंग के लिए आपूर्ति किए जाने वाले टीकों का डाटा प्रस्तुत करेंगे। टीकाकरण के बाद किसी भी प्रतिकूल घटना की निगरानी जारी रहेगी।

जानकारी के मुताबिक, दोनों टीकों कीमत प्रति खुराक 275 रुपये और अतिरिक्त सेवा शुल्क 150 रुपये तक सीमित रखने की संभावना है। राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (एनपीपीए) को टीकों को किफायती बनाने के लिए कीमत को सीमित रखने की दिशा में काम शुरू करने का निर्देश दिया गया है.अभी तक कोवैक्सीन की कीमत 1,200 रुपये प्रति खुराक है, जबकि कोविशील्ड की एक खुराक की कीमत निजी अस्पतालों में 780 रुपये है। कीमतों में 150 रुपये का सेवा शुल्क भी शामिल है. फिलहाल दोनों टीके देश में केवल आपातकालीन उपयोग के लिए अधिकृत हैं।

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया ने कहा कि केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने अब कोवाक्सिन और कोविशील्ड की अनुमति को आपातकालीन स्थितियों में प्रतिबंधित उपयोग से कुछ शर्तों के साथ वयस्क आबादी में सामान्य नई दवा की अनुमति में अपग्रेड कर दिया है।

पिछले दिनों केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की कोविड-19 पर विषय विशेषज्ञ समिति ने 19 जनवरी को कुछ शर्तों के साथ वयस्क आबादी के बीच उपयोग के लिए कोविड रोधी टीकों कोविशील्ड और कोवैक्सीन को नियमित रूप से बाजार में उतारने की मंजूरी देने की सिफारिश की थी।

19 जनवरी को केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की कोविड-19 पर विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) द्वारा भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) की मंजूरी के बाद कुछ शर्तों के अधीन वयस्क आबादी में उपयोग के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के कोविशील्ड और भारत बायोटेक के कोवाक्सिन को नियमित रूप से बाजार में बेचने की मंजूरी देने की सिफारिश की गई थी।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के निदेशक (सरकार और नियामक मामले) प्रकाश कुमार सिंह ने 25 अक्टूबर को भारत के औषधि महानियंत्रक को एक आवेदन जमा किया था, जिसमें कोविशील्ड टीके को बाजार में उतारने की मंजूरी मांगी गई थी। कुछ सप्ताह पहले भारत बायोटेक के पूर्णकालिक निदेशक वी कृष्ण मोहन ने कोवैक्सीन के लिए नियमित मंजूरी की मांग करते हुए क्लीनिक ​​डेटा के साथ-साथ रसायन विज्ञान, निर्माण और नियंत्रण संबंधी पूरी जानकारी प्रस्तुत की. कोवैक्सीन और कोविशील्ड को पिछले साल तीन जनवरी को आपातकालीन उपयोग मंजूरी (ईयूए) दी गई थी।

Next Story