आज भी इस गाँव में नहीं खुला है आगँनबाड़ी केंद्र… बच्चों को ना पोषण आहार मिल रहा है ना ही प्रारंभिक शिक्षा…

धमतरी 14 जनवरी 2019.  अतिसंवेदन शील क्षेत्र कहे जाने वाले जिले के सुदूर वनांचल इलाके में एक गॉव ऐसा भी है. जहाँ आज तक आंगनबाड़ी केंद्र नहीं खुल पाया है. आज भी इस आधुनिक दौर में पुस्तकी ज्ञान और प्रारंभिक स्कूली शिक्षा का मतलब यहाँ के बच्चे नहीं जानते और गाव में ही खेलकूद कर अपना टाइम व्यतीत कर लेते है.

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

ग्रामीणों की माने तो ग्राम बोइरगांव ग्राम पंचायत मेचका (सोंढूर )का आश्रित ग्राम है. जहाँ तकरीबन 22 से 25 परिवार निवास करता है जिसमें ज्यादातर लोग कमार जनजाति के है.साथ ही आँगनबाड़ी जाने योग्य लगभग 15 से 20 बच्चे है.

ग्रामीणों ने बताया की पूर्व में आँगनबाड़ी भवन की माँग विधायक से की जा चुकी है. जिसके बाद अधिकारी बकायदा इस गॉव में सर्वे के लिए भी पहुंचे थे, लेकिन खाली आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला. इस पूरे मामले की जानकारी के लिए महिला बाल विकास नगरी प्रभारी अधिकारी को संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.