शिक्षा प्रमुख सचिव ने कलेक्टर व DEO को लिखा पत्र….. ऑनलाइन-ऑफलाइन क्लास के जरिये बच्चों का मूल्यांकन करने वाले शिक्षक होंगे सम्मानित…. 5 अलग-अलग कैटेगरी में मिलेगा अवार्ड….डॉ आलोक ने अपने निर्देश में कहा….

रायपुर 22 सितंबर 2020। कोरोना काल में आनलाइन-आफलाइन क्लास के जरिये बच्चों का भविष्य संवार रहे शिक्षकों को राज्य स्तर पर सम्मानित करने का ऐलान शिक्षा विभाग ने किया है। शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव ने सभी कलेक्टर व जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखकर शिक्षकों को सम्मानित करने का नया दिशा निर्देश जारी किया है। आलोक शुक्ला ने अपने निर्देश में कहा है कि बच्चों की पढ़ाई के साथ-साथ उनकी शैक्षणिक उपलब्धियों के मूल्यांकन की जरूरत है। इसे लेकर cgschool.in  वेबसाइट पर आनलाइन आफलाइन शिक्षा ग्रहण करने वाले सभी बच्चों के नामों की एंट्री कर उन्हें पढ़ाने वाले शिक्षकों द्वारा उनकी शैक्षणिक उपलब्धियों की एंट्री करने का प्रावधान किया है।

डॉ आलोक शुक्ला का निर्देश – पढ़िये, इस लिंक को क्लिक करके 

विभाग ने स्वचेछा से आनलाइन आफलाइन क्लास ले रहे शिक्षकों को मूल्यांकन की एंट्री करने को लेकर एक ट्रेनिंग प्रोग्राम भी SERT की तरफ से किया जायेगा। मूल्यांकन की ये एंट्री अक्टूबर माह से शुरू होगी, जिसमें बच्चों की ऐसे क्लासेस के जरिये की जाने वाले शैक्षणिक प्रगति की जानकारी परखी जायेगा।

विभाग ने तय किया है कि जो शिक्षक लगातार 100 से अधिक बच्चों का मूल्यांकन जनवरी माह तक करेंगे, उन्हें प्लेटिनम प्रशंसा प्रमाण पत्र लिया जायेगा, उसी तरह से 75 से 100 बच्चों का लगातार मूल्यांकन करने वाले वाले शिक्षकों को गोल्ड प्रशांसा प्रमाण पत्र, 50 से 75 बच्चों का लगातार मूल्यांकन करने वाले शिक्षकों को सिल्वर प्रशंसा पत्र, 25 से 50 बच्चों का लगातार मूल्यांकन करने वाले शिक्षकों को ब्राउंज प्रशंसा पत्र व 10 से 20 बच्चों को लगातार मूल्यांकन करने वाले शिक्षकों को साधारण प्रशंसा पत्र वितरित किया जायेगा। ये प्रमाण पत्र फरवरी माह के प्रथम सप्ताह में जनवरी तक किये गये कार्य के लिये दिये जायेंगे।

डॉ आलोक शुक्ला ने बताया है कि इस तरह की पहल से विभिन्न जिलों, विकासखंडों व संकुलों के बीच एक प्रकार की प्रतिस्पर्धा होगी एवं बच्चों की शैक्षणिक प्रगति के आधार पर उन्हें फरवरी माह में प्रमाण पत्र दिया जायेगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.