शहर में लॉकडाउन के दौरान ‘‘आशाएं समाजसेवी संस्था‘‘ द्वारा प्रतिदिन जरूरतमंद लोगों को उपलब्ध कराया जा रहा है राशन.. 5500 लोगों को मिला लाभ 

रायपुर 7 अप्रैल 2020। वर्तमान में देश कोरोना महामारी के भीषण दौर से गुजर रहा है। कोरोना महामारी से बचने हेतु भारत के प्रधानमंत्री जी द्वारा सभी लोगों को घर में रहने तथा इसके बचाव हेतु कई महत्वपूर्ण जानकारियां देने के साथ – साथ पूरे देश को दिनांक 24 से दिनांक 14 अप्रैल तक लाॅकडाउन करने के निर्देश दिये गये है। राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा भी कोरोना वायरस की महामारी को गंभीरता से लेते हुये जरूरतमंद व्यक्तियों तक हर संभव मदद पहुंचाया जा रहा है। साथ ही उन्होंने सामाजिक संगठनों के लोगों से अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा सभी जरूरतमंदों की मदद करें, ताकि इस विषम परिस्थिति से उबरा जा सके।
इसी कड़ी में आशाऐं समाजसेवी संस्था के सदस्य जिनकी टीम में लगभग 150-200 युवा सदस्य शामिल हैं, गुरप्रीत सलूजा, धीरज सेठिया, आदर्श मुंदरा, मोहम्मद ज़फ़र, पीयूष भाटिया, सौरभ अग्रवाल, सौरभ जैन, राहुल गज्जलवार, कारन राजपाल, शादाब अली, रिशब साहू, दीपक लोढ़ा, शौर्यादित्य सिंह, आदित्य बुधिया, परवेज़ फ़ारूक़ी, बिट्टू भल्ला, संदीप मखीजा, पवन कुमार है, पूरे टीम के सदस्यों द्वारा अपने बचत किये गये रूपयों से प्रतिदिन लगभग 500 लोगों को भोजन एवं जरूरत की वस्तुएं उपलब्ध करायी जा रही है। आशाऐं समाजसेवी संस्था के सदस्यों द्वारा लाॅक डाउन के दौरान रायपुर जिले के अलग – अलग क्षेत्रों में निवासरत मजदूर, गरीब परिवार, जिले के बार्डर में फंसे लोग तथा जरूरतमंद लोगों को भोजन, कच्चा राशन, मास्क, सेनेटाईजर, कपड़े, साबुन एवं जरूरतमंदों के हिसाब से सामाग्री उपलब्ध करायी जा रही है।
इस सेवा संस्थान द्वारा दिनांक 29 मार्च से आज दिनांक 07 अप्रैल तक 10 दिन में कुल 5450 पैकेट भोजन एवं जरूरतमंद 400 परिवार को राशन का सामान वितरित किया गया है। इसके अतिरिक्त आशाएं सेवा संस्थान की पूरी टीम द्वारा जिला प्रशासन को चावल, दाल, आलू जैसे रोजमर्रा की कई अनेक दैनिक राशन सामाग्रियां भी उपलब्ध करायी गयी है, ताकि जिला प्रशासन द्वारा जरूरतमंद व्यक्तियों तक राशन की वस्तुएं पहुंचायी जा सके। जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा आशाएं सेवा संस्थान की पूरी टीम के सदस्यों की सराहना की गई।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.