कोरोना संकट के दौरान श्रमिकों की छंटनी और वेतन कटौती की बजाए मानवीय दृष्टिकोण अपनाएं, लेबर सिकरेट्री बोरा ने प्रायवेट क्षेत्र से श्रमिकों को आर्थिक और सामाजिक सुरक्षा देने का किया आग्रह

NPG.NEWS
रायपुर, 21 मार्च 2020। लेबर सिकरेट्री सोनमणि बोरा ने कोरोना संकट के दौरान प्रायवेट क्षेत्र से अपने श्रमिकों के प्रति विशेष सहानुभूति बरतने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा है कि इस दरम्यान श्रमिकों की न छंटनी किया जाए और न ही उनकी वेतन कटौती। बोरा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर निजी क्षेत्र के प्रमुखों से यह संवेदनशील पहल की है। उन्होंने वेतन, छुट्टी समेत अन्य सुविधाओं के मामले में निर्देश जारी किए हैं।
सोनमणि बोरा लेबर सिकरेट्री के साथ ही लेबर कमिश्नर हैं। उन्होंने जिन लोगों से अपील की है, उनमें कारखाना, दुकान, व्यावसायिक संस्थान, निजी अस्पताल, नर्सिंग होम, टाकिज, होटल एवं रेस्टोरेंट, मॉल, समाचार पत्र संस्थान, निजी शैक्षणिक संस्थान, कोचिंग संस्थान, ट्रांसपोर्ट उपक्रम, सार्वजनिक उपक्रम, निजी सुरक्षा एवं प्लेसमेंट एजेंसी, रियल स्टेट एवं कंट्रक्शन कंपनी शामिल हैं।
बोरा ने कहा है कि इस बीमारी से श्रमिक या उसके परिवार का कोई सदस्य पीड़ित है तो उसे सवैतनिक अवकाश दिया जाए। इस दौरान किसी श्रमिकों की न तो छंटनी की जाए और न ही उनका वेतन काटी जाए। उन्होंने कहा है कि संस्थान प्रमुख अपने कर्मचारियों के प्रति मानवीय दृष्किण अपनाएं।
पढ़िये लेबर सिकरेट्री ने और क्या लिखा है…..

Spread the love