comscore

DSP गिरफ्तार : दोस्त के मर्डर मामले में DSP अरेस्ट….ट्रेनिंग के बाद हाल ही में हुई थी पोस्टिंग…..दोस्तों संग पहले जमकर की दारू पार्टी और फिर नहाने के दौरान……

कोडरमा 12 जुलाई 2021। दोस्त के मर्डर मामले में DSP को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। डीएसपी अपने दोस्तों के साथ कोडरमा के तिलैया डैम पार्टी मनाने आया था, इसी दौरान दोस्त की मौत हुई थी। पुलिस के मुताबिक पार्टी के लिए डीएसपी सहित चार युवक आये थे, इसी दौरान ये पूरा घटनाक्रम हुआ है। मौके पर पुलिस को शराब और पार्टी के कई सामान भी मिलेहैं। आरोपी डीएसपी का नाम आशुतोष है, जबकि मृतक का नाम निखिल रंजन बताया जा रहा है। डीएसपी के पिता रिटायर्ड जज हैं, जबकि मृतक के पिता सब इंस्पेक्टर हैं।

ट्रेनी डीएसपी अभी बक्सर में पदस्थ हैं। पिकनिक में छककर शराब पीने के बाद डैम में नहाने के दौरान डीएसपी की सर्विस रिवाल्‍वर से गोली चलने से एक दोस्‍त निखिल रंजन की मौत हो गई थी। जवाहर घाटी पुल के नीचे बरही से कोडरमा आने के दौरान दाएं फारेस्ट कार्यालय से आगे जिस स्थल पर लोगों का जुटान हुआ था, वह काफी दुर्गम, लेकिन रमणीक स्थल है। यहां किसी बाहरी का पहुंचना संभव नहीं है। बताया जाता है कि इनके साथ सूरज नामक एक स्थानीय युवक भी था, जो घटना के बाद से फरार है।

सुबह घटनास्थल पर पहुंची पुलिस को यहां से खीरा के ताजे छिलके, प्याज, लहसुन आदि के छिलके, शराब के कई खाली बोतल, पैकेट पत्तल, पत्थर से बने चूल्हा में जली लकड़ी आदि मिले हैं। इससे स्पष्ट हो रहा है कि लोगों ने यहां पिकनिक कर फुल मस्ती की थी। उल्लेखनीय है कि करीब 15 वर्ष पूर्व इसी स्थल के समीप झुमरीतिलैया के एक युवक पिंकू मोदी की हत्या उसके ही दोस्तों ने यहां विश्वास में लेकर कर दी थी। कई दिनों के बाद पुलिस को यहां से शव मिला था। बहरहाल डीएसपी आशुतोष के संबंध में जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार उसकी नियुक्ति बिहार लोक सेवा आयोग 56-59वीं बैच में पुलिस सेवा के लिए हुई थी।

मृतक के पिता ने लगाया हत्या का आरोप, डीएसपी समेत तीन गिरफ्तार

मामले में पुलिस ने डीएसपी समेत तीन को गिरफ्तार किया है। मामले को लेकर मृतक निखिल रंजन के पिता ऋषिदेव प्रसाद सिंह ने डीएसपी आशुतोष समेत अन्य तीन युवकों पर उनके पुत्र की गोली मारकर हत्या का आरोप लगाया है। ऋषिदेव सिंह बिहार के गया जिला के चेरखी थाना में पुलिस अवर निरीक्षक हैं। चंदवारा पुलिस को दिए आवेदन में उन्होंने कहा है कि आशुतोष कुमार उनके पुत्र के साथ पुरानी रंजिश रखता है। पूर्व में भी एक बार पैसे के लेनदेन को लेकर विवाद हुआ था। इसके कारण घरवालों को पैसा चुकाने पड़े थे।

फिर आशुतोष नए तरीके से निखिल से पैसे की मांग कर रहा था। इस कारण से निखिल परेशान रहता था। शुक्रवार को आशुतोष उसके पुत्र को बिहारशरीफ से इंगेजमेंट में ले जाने की बात कहकर घर से बुलाकर ले गया था। आवेदन में उन्होंने डीएसपी आशुतोष के अलावा सौरभ कुमार (27 वर्ष), पिता अरविंद सिंह, महावीर नगर, दशरथा पश्चिम, थाना बेऊर पटना, और सूरज कुमार, (28 वर्ष), पिता राजकुमार यादव, गिरिडीह बाइपास रोड, कोडरमा को घटना में संलिप्तता का आरोपी बनाया है। उन्होंने स्पष्ट तौर डीएसपी आशुतोष पर उनकी सर्विस पिस्टल से निखिल की गोली मारकर हत्या का आरोप लगाया है।

Spread the love