हिजबुल आतंकियों के साथ DSP अरेस्ट, एंटी टेरर ऑपरेशन का था हिस्सा…… संसद हमले में भी जम्मू-कश्मीर के इस डीएसपी का आया था नाम, मिल चुका है राष्ट्रपति पुलिस पदक

श्रीनगर 12 जनवरी 2020। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में चेकिंग के दौरान एक गाड़ी से हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है। हैरानी की बात है कि पकड़े गए आतंकियों के साथ कार में जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक उपाधीक्षक (डीएसपी) भी मौजूद थे, सुरक्षाबलों ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है। डीएसपी राष्ट्रपति पुलिस मेडल विजेता है।

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले के मीर बाजार इलाके से सुरक्षा बलों ने शनिवार को पुलिस के डीएसपी देविंदर सिंह को लश्कर-ए-ताइबा व हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों के साथ गिरफ्तार किया। डीएसपी श्रीनगर एयरपोर्ट पर एंटी हाइजैकिंग स्कावायड में तैनात है। तीनों को एक कार से गिरफ्तार किया गया। तलाशी के दौरान कार से दो एके 47 राइफल बरामद किया गया।

दरअसल, पुलिस को दो आतंकियों के कार में सवार होने की जानकारी मिली थी लेकिन उन्हें डीएसपी के साथ होने की कोई जानकारी नहीं थी.जानाकारी के आधार पर पुलिस ने गाड़ियों की चेंकिंग शुरू की. इसी दौरान दोनों आतंकियों और डीएसपी को भी गिरफ्तार किया गया. उनके पास से हथियार और विस्फोटक सामान भी बरामद किए गए हैं. सूत्रों के मुताबिक तीनों से पुलिस पूछताछ कर रही है और डीएसपी के आवास समेत कई जगहों पर छापेमारी कर रही है. आतंकियों के पास से दो एके-47 बरामद हुए हैं.

बता दें कि देवेंद्र सिंह एंटी हाईजेकिंग स्क्वॉयड में शामिल हैं. उनकी तैनाती श्रीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर थी. पिछले कुछ दिनों से वो अवकाश पर थे. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक वह पिछले काफी समय से एंटी टेरर स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप का हिस्सा रहे हैं. बाद में उन्हें प्रमोट कर डीएसपी बनाया गया था.  नावेद हिजबुल का टॉप कमांडर है जबकि आसिफ एक लिस्टेड आतंकवादी। यह दोनों शोपियां जिले के रहने वाले हैं औऱ आसिफ तीन साल पहले ही हिजबुल में शामिल हुआ था। बताया जा रहा है कि जिस सफेद रंग की मारूती कार से यह तीनों सफर कर रहे थे उसमें से 2 एके-47 और कुछ हैंडग्रेनेड भी रखे हुए थे जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है।

Spread the love